दिल्ली पहली बार फाइनल में, मुंबई से होगी खिताबी टक्कर…!


खेल डेस्क, 9 नवंबर ।आईपीएल के 13वें सीजन का क्वालिफायर-2 मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने जीता. रविवार रात अबु धाबी में करो या मरो के इस मैच में दिल्ली ने सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को 17 रनों से मात दी. 190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 172/8 रन ही बना पाई. मैन ऑफ द मैच मार्कस स्टोइनिस (3-0-26-3) ने सनराइजर्स को तीन झटके दिए, जिसमें केन विलियमसन का अहम विकेट भी शामिल है. कैगिसो रबाडा (4-0-29-4) ने चार विकेट लेकर दिल्ली की जीत सुनिश्चत की।
इस बेशकीमती जीत के साथ दिल्ली कैपिटल्स ने पहली बार आईपीएल के फाइनल में जगह बनाई. अब खिताबी मुकाबले में 10 नवंबर को दुबई में उसकी टक्कर चार बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस (MI) से होगी. दूसरी तरफ इस हार के बाद मौजूदा आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद का सफर खत्म हो गया. लगातार चार जीत के बाद डेविड वॉर्नर की कप्तानी वाली सनराइजर्स टीम अपनी लय बरकरार रखने में नाकाम रही और उसे टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा. 190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स टीम को पहला झटका 12 के स्कोर पर लगा, जब कप्तान डेविड वॉर्नर (2) को कैगिसो रबाडा ने बोल्ड किया. पारी शुरू करने आए प्रियम गर्ग (17) को मार्कस स्टोइनिस ने बोल्ड किया. उसी ओवर में स्टोइनिस ने मनीष पांडे (21) को भी अपना शिकार बनाया।

43 के स्कोर पर दूसरा और 44 पर तीसरा विकेट गिरा. जेसन होल्डर (11) को अक्षर पटेल ने लौटाया. 90 के स्कोर पर हैदराबाद को चौथा झटका लगा. इसके बाद केन विलियमसन (67) ने अब्दुल समद के साथ 57 रनों की जोरदार साझेदारी की. विलियमसन को स्टोइनिस का अहम विकेट लिया, रबाडा ने कैच लपका. 147 के स्कोर पर 5वां विकेट गिरा. अब्दुल समद (33) को आउट कर रबाडा ने सनराइजर्स को छठा झटका दिया. अगली गेंद पर राशिद खान (11) को रबाडा ने चलता किया और इसके बाद उन्होंने उसी ओवर की पांचवीं गेद पर श्रीवत्स गोस्वामी (0) को लौटाया. यानी 167 रनों पर छठा और सातवां विकेट गिरने के बाद 168 रनों पर 8वें विकेट का पतन हुआ।


SRH की बल्लेबाजी पर ऐसे हावी हुई दिल्ली
सनराइजर्स ने पावरप्ले में ही तीन विकेट गंवा दिए. कप्तान डेविड वॉर्नर (2) को रबाडा ने इनस्विंग यॉर्कर पर बोल्ड किया. सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरे प्रियम गर्ग (17) ने आर. अश्विन और एनरिक नोर्तजे  पर छक्के लगाए, लेकिन स्टोइनिस ने उन्हें बोल्ड करने के बाद मनीष पांडे (21) को भी सीमा रेखा पर कैच करवाकर मैच का परिणाम तय करवा दिया।
विलियमसन ने बीच-बीच में लंबे शॉट खेलकर स्कोर बोर्ड चलायमान रखा, लेकिन पिंच हिटर के तौर पर भेजे गये जेसन होल्डर (15 गेंदों पर 11) बल्लेबाजी में भी नहीं चले. विलियमसन ने 35 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया. इस बीच उन्होंने प्रवीण दुबे, अक्षर पटेल, रबाडा और स्टोइनिस पर छक्के लगाए. समद ने नोर्तजे पर छक्का और दो चौके लगाकर सनराइजर्स की उम्मीद बढ़ाई।

विलियमसन ने उम्मीद जगा दी थी, पर …
सनराइजर्स को अंतिम चार ओवरों में 51 रन चाहिए थे, लेकिन स्टोइनिस ने विलियमसन को आउट करके दिल्ली की जीत तय कर दी. रबाडा ने अपने आखिरी ओवर में समद, राशिद खान (11) और श्रीवत्स गोस्वामी (0) को आउट किया।

स्टोइनिस-धवन ने शानदार शुरुआत दी
दिल्ली ने स्टोइनिस को पारी का आगाज करने के लिए भेजा. ऑस्ट्रेलिया का यह ऑलराउंडर जब तीन रन पर था, तब जेसन होल्डर ने उनका कैच छोड़ा. स्टोइनिस ने इसके बाद चौकों की बौछार कर दी. उन्होंने संदीप पर दो चौके जड़कर जीवनदान का जश्न मनाया और फिर होल्डर (50 रन देकर एक विकेट) के ओवर में 3 चौके और एक छक्के की मदद से 18 रन बटोरे।

डेविड वॉर्नर ने पावरप्ले का अंतिम ओवर स्पिनर शाहबाज नदीम को सौंपा, लेकिन संदीप पर दो चौके लगाकर लय पकड़ने वाले धवन ने मिडविकेट पर छक्के और चौके से उनका स्वागत किया. पावरप्ले तक स्कोर बिना किसी नुकसान के 65 रन पहुंच गया. राशिद ने स्टोइनिस को बोल्ड करके सनराइजर्स को राहत दिलाई, लेकिन दूसरे स्पिनर नदीम (4 ओवरों में 48 रन) पिछले मैच की तरह प्रभाव नहीं छोड़ पाए. धवन ने उनकी गेंद पर छक्का जड़कर 26 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया।

आखिर में हेटमेयर ने तेजी से रन बटोरे
कप्तान श्रेयस अय्यर (20 गेंदों पर 21) ने पारी संवारने की कोशिश की, लेकिन वह लंबी पारी नहीं खेल पाए और मिडऑफ पर आसान कैच देकर पवेलियन लौटे. उनका स्थान लेने के लिए उतरे हेटमेयर ने तेजी से रन बनाए. नटराजन पर छक्का जड़ने के बाद उन्होंने होल्डर पर तीन चौके लगाए. राशिद ने धवन का आसान कैच छोड़ा, लेकिन संदीप उन्हें इसी ओवर में एलबीडब्ल्यू आउट करने में सफल रहे. संदीप और नटराजन ने अंतिम दो ओवरों में केवल 13 रन दिए।