EPFO ले सकता है बड़ा निर्णय PF पर ज्यादा ब्याज और 5000 रुपये हो सकती है EPS पेंशन..!


केन्द्र सरकार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ईपीएफओ (EPFO)को संगठित और असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद बनाए जाने का विचार कर रही है। संसदीय समिति द्वारा गठित लेबर पैनल PF पर ज्यादा ब्याज दिलाने और EPS( एंप्लाइज पर्सन स्कीम )के तहत मिलने वाले न्यूनतम पेंशन को ₹5000 मासिक करने का फैसला ले सकती है ।

तीन सदस्यीय लेबर पैनल इस पर विचार कर रहा है ।आज होने वाले इस की बैठक में 10 खरब रूपय के कोष का प्रदर्शन पर विचार-विमर्श होगा। पैनल के सदस्य कोरोना वायरस और कोरोना लाकडाउन के चलते EPFO कोष पर पडे प्रभाव का भी आकलन करेंगे । सूत्रों के मुताबिक पैनल आज की बैठक में कर्मचारियों की पेंशन योजना के तहत न्यूनतम मासिक राशि को बढाकर 5000 रूपये करने पर विचार कर रहा है ।कई ट्रेड यूनियन और श्रमिक संगठन पिछले कुछ समय से पेंशन की राशि बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं। केंद्र सरकार के लक्ष्य भी असंगठित श्रमिकों को बुढ़ापे में सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है ।

पीएफ पर ब्याज बढ़ाने पर भी विचार

ईपीएफओ ने साल 2019-20 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि( ईपीएफ) पर 8.5% ब्याज तय किया है, यह पिछले 5 सालों में सबसे कम है इसके चलते अब इस प्यार दर को भी बढ़ाने की तैयारी चल रही है ,अगर पैनल अपनी रिपोर्ट में ज्यादा रिटर्न दिलाने वाली जगह पर निवेश करता है तो इसका फायदा कर्मचारियों को मिलेगी कर्मचारियों के लिए 2020- 21 की ब्याज दर दिसंबर जनवरी में तय होगी इससे पहले इस पैनल की सिफारिशों पर ध्यान दिया जाएगा या लेबर पैनल संसद के शीतकालीन सत्र में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी इसके पहले ईपीएफ के कोष से कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी पैनल के सदस्यों ने श्रम मंत्रालय के प्रतिनिधियों को दूसरे देशों में संगठित और असंगठित क्षेत्रों में श्रमिकों के लिए किए गए प्रावधानों का ब्योरा भी दिया है।