रिपब्लिक भारत न्यूज चैनल ने पैसे देकर खरीदी TRP, दो अन्य न्यूज चैनलों का भी नाम बागी शामिल : मुंबई पुलिस


मुम्बई। परमबीर सिंह ने बताया कि फ्रॉड टीआरपी रैकेट में अब तक तीन न्यूज चैनलों का नाम सामने आया है जिसमें दो छोटे मराठी न्यूज चैनल हैं जिनके नाम फक्त मराठी और बॉक्स सिनेमा हैं इनके अलावा रिपब्लिक टीवी का नाम भी इस रैकेट में सामने आया है।

मुंबई. मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने फ्रॉड टीआरपी के रैकेट का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बार्क (BARC) की शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच की टीम को जांच में फ्रॉड टीआरपी के रैकेट का पता चला है। परमबीर सिंह ने कहा कि इस रैकेट के जरिए टीआरपी को मैनुपुलेट किया जा रहा था। सिंह ने कहा कि इसके जरिए फेक एजेंडा चलाया जा रहा था।

परमबीर सिंह ने बताया कि इस रैकेट में अब तक तीन न्यूज चैनलों का नाम सामने आया है जिसमें दो छोटे मराठी न्यूज चैनल हैं जिसमें से एक है फखत मराठी और बॉक्स सिनेमा इनके अलावा रिपब्लिक टीवी का नाम भी सामने आया है। परमबीर सिंह ने बताया कि इन दोनों मराठी चैनलों के मालिकों को गुरुवार को हिरासत में ले लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में किसी और न्यूज चैनल का नाम अगर आता है तो उस पर भी कार्रवाई की जाएगी।

ऐसे चल रहा था टीआरपी का खेल
कमिश्नर ने बताया कि जांच के दौरान ऐसे घर मिले हैं, जहां टीआरपी का मीटर लगा होता था। इन घरों के लोगों को पैसे देकर दिनभर एक ही चैनल चलवाया जाता था, ताकि चैनल की टीआरपी बढ़े। उन्होंने यह भी बताया कि कुछ घर तो ऐसे पता चले हैं, जो बंद थे, उसके बावजूद अंदर टीवी चलते थे। एक सवाल के जवाब में कमिश्नर ने यह भी कहा कि इन घर वालों को चैनल या एजेंसी की तरफ से रोजाना 500 रुपए तक दिए जाते थे।

आपको बता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार हिंदी न्यूज़ चैनल रिपब्लिक भारत के निशाने पर थे। रिपब्लिक भारत द्वारा मामला दबाने, छुपाने, जांच में लापरवाही के लिए उन पर कई तरह के आरोप भी लगाए गए थे। रिपब्लिक भारत द्वारा कुछ न्यूज़ चैनल्स को भी निशाने पर लिया गया था। इस मामले को लेकर रिपब्लिक भारत की टीआरपी भी काफी बड़ी थी। सुशांत सिंह राजपूत की मौत एम्स की रिपोर्ट में आत्महत्या करार दिए जाने के बाद एक तरह से अघोषित मीडिया वार शुरू हो गया है। दोनों अपने अपने चैनल पर एक दूसरे पर आरोप लगाते हैं। इसके बाद से ही रिपब्लिक भारत भी मुंबई पुलिस के निशाने पर है।