आज से लागू हो रहा है रेल्वे का नया नियम.. जानें क्या है वो महत्वपूर्ण नियम ? पढ़े खबर..!


भारतीय रेल का 10 अक्टूबर से अहम नियम लागू होने जा रहा है। त्योहारों से पहले यात्रियों को बड़ी राहत देते हुए रेलवे ने ट्रेन रवाना होने से पांच मिनट पहले तक टिकट बुक करने या रद्द करने की सुविधा दी है। साथ ही अब ट्रेनों में टिकट आरक्षण का दूसरा चार्ट ट्रेन के स्टेशन से छूटने से आधे घंटे (30 मिनट) पहले भी जारी किया जाएगा। रेलवे आरक्षण का पहला चार्ट ट्रेन के स्टेशन से छूटने से चार घंटे पहले जारी करता है। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, पहला रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन की रवानगी से 4 घंटे पहले तैयार किया जाएगा, जबकि दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन के रवाना होने से 30 मिनट से 5 मिनट पहले की तरह तैयार किया जाएगा।

इस तरह दूसरा आरक्षण चार्ट तैयार होने तक यात्री ट्रेन टिकट बुक कर सकते हैं। रिफंड नियमों के प्रावधानों के अनुसार, इस दौरान टिकट रद्द भी किए जा सकते हैं। यदि सीटें रद्द होने के कारण खाली हो जाती हैं, तो उन्हें दूसरे चार्ट की तैयारी तक पीआरएस काउंटरों और ऑनलाइन के माध्यम से बुक किया जा सकता है।

17 अक्टूबर से शुरू होने वाली तेजस एक्सप्रेस के साथ भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जा रही सभी विशेष ट्रेनों के लिए नया नियम लागू होगा। हालांकि, कोरोन वायरस के कारण नियमित ट्रेन सेवाएं अभी भी निलंबित हैं। नई व्यवस्था का सीधा फायदा यात्रियों को होगा। दावा किया जा रहा है कि इससे ट्रेन में टीटीई की मनमानी पर भी रोक लगेगी। अब तक ऐनवक्त पर टिकट रद्द होने से खाली हुई सीटों पर टीटीई की मनमानी चलती थी।

जैसे जैसे त्योहारों का समय नजदीक आ रहा है, ट्रेनों में वेटिंग बढ़ती जा रही है। हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, अभी जिन स्पेशल ट्रेनों को क्लोन ट्रेन का नाम देकर पटरी पर उतारा गया है, उनका किराया भले ही सामान्य ट्रेन से अधिक है, लेकिन इनमें भी वेटिंग का आंकड़ा 350 पार पहुंच गया है। 100 फीसदी यात्री ट्रेनों में सफर कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, बंगाल आदि राज्यों से ट्रेन फुल हो जाने के कारण यात्रियों को कंफर्म टिकट भी नसीब नहीं हो पा रही।