3 गांव बफर व कन्टेन्टमेंट जोन घोषित..आवाजाही बन्द करने सख्त आदेश

बिलासपुर 23 मई। कलेक्टर ने मस्तूरी तहसील के मनवा, तखतपुर तहसील के लिमहा और बिलासपुर तहसील के मटियारी गांवों को कंटेनमेंट और बफर जोन घोषित कर दिया है। यहां सभी दुकानें और व्यावसायिक गतिविधियां रोक दी गई है। मोटरगाड़ियों और लोगों की आवाजाही पर सख्त प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया गया है। इन तीनों गांवों में कोरोनावायरस कोविड-19 के संक्रमण से प्रशासन ने चिंता जाहिर की है। ग्रामीणों के बचाव के लिए ऐहतियात बरतने सख्त निर्देश जारी किए हैं। मसलन बिलासपुर तहसील के मटियारी गांव में रहने वाले एक व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद इस गांव की शासकीय हाई स्कूल को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।

वहीं इस हाई स्कूल परिसर के चारों ओर तीन किलोमीटर की परिधि के क्षेत्र को बफर जोन घोषित कर दिया गया है। इस पूरे क्षेत्र में सभी प्रकार की दुकानें व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि खोलने पर रोक है। मोटर गाड़ियों की आवाजाही पर सख्त पाबंदी लगाई जा रही है। वही इन तीनों गांवों में घोषित कंटेनमेंट जोन क्षेत्र के तमाम रास्तों को बेरिकेटिंग से बंद कर दिया है।

गांव के लिए केवल एक ही प्रवेश और निकास द्वार बनाए जाने के आदेश लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दिए गए हैं। इसी तरह तखतपुर तहसील के लिमहा, बिलासपुर तहसील के मटियारी और मस्तुरी तहसील के धमनवाध गांव में कोविड-19 के जिन संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। उसमें इन तीनों ही गांव में एक-एक व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सख्त कदम जिला प्रशासन के द्वारा उठाया गया है।

स्वास्थ्य अधिकारियों को इन गांवों में मास्क व जरूरी दवाओं आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी तरह लोक निर्माण विभाग व जनपद पंचायत के सीईओ को सैनिटाइजेशन और बेरिकेटिंग के जरिए तीनों गांवों में केवल एक प्रवेश व निकास द्वार बनाने के आदेश दिए गए हैं। स्थानीय निवासियों के लिए निर्देश दिए गए हैं कि जब तक मेडिकल इमरजेंसी न हो किसी को भी अपने घर से बाहर इधर-उधर जाने की इजाजत नहीं है।