सावधान : अब गंभीर हो जाइये डरिये और सावधान रहिये क्योंकि बजरंग पारा निवासी कोरोना मरीज बिना ट्रेवल हिस्ट्री के मिला है पॉजिटिव.. इसके कांटेक्ट हिस्ट्री में दर्जनों नाम सुमार..पुलिस की बढ़ी परेशानी, भोलागली, तायलगली व बाबूपारा मोहल्ला हुआ सील..03 वार्डों में मचा हड़कंप..दहशत में लोग अलर्ट रहिये..पढ़े पूरी खबर..!

  • डॉ रुपेंद्र सहित हॉस्पिटल के 06 से अधिक स्टाफ क्वारन्टीन

  • लियो क्लब के 08 सदस्य 01 कैमरामैन तथा घर के किराएदार सहित 04 लोग भी क्वारन्टीन

  • बजरंगपारा, भोलागली तायलगली व बाबूपारा हुआ सील..मोहल्ले में दहशत का माहौल

रायगढ़ 25 जून।  शहर के बाशिंदे अब खबरदार हो जाएं क्योंकि कोरोना के संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है। कोरोना ने रायगढ़ शहर में दस्तक दे दी है स्थानीय बजरंगपारा निवासी एक सरकारी कर्मचारी करना पॉजिटिव पाया गया है उक्त कर्मचारी घरघोड़ा के हाई स्कूल में बड़े बाबू के रूप में पदस्थ है और वह अंतिम बार विगत 16 जून को पकड़ा गया था प्रशासन व पुलिस संक्रमित व्यक्ति के कांटेक्ट हिस्ट्री खंगालने में जुट गई है उक्त कर्मचारी के करना पार्टी मिलने के बाद कमेटी संख्या संख्या बढ़ गई है क्योंकि इस शख्स की ट्रैवल्स नहीं है ऐसे में स्वाभाविक है बताया जा रहा है कि उक्त कर्मचारी का बीड़पारा बाबूपारा व बजरंगपारा है तथा उसे इलाज के लिए उसको लेकर गए थे।

कांटेक्ट डिटेल्स से बढ़ी प्रशासन की परेशानी:

संक्रमित व्यक्ति की कांटेक्ट हिस्ट्री ट्रैस करने के लिए पुलिस प्रशासन की मुश्किलें काफी बढ़ गई है। जब स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने उसकी कांटेक्ट हिस्ट्री कंगाली तो सामने आए जानकारी को देख उनके होश उड़ गए क्योंकि संक्रमित मरीज का एक जगह नहीं बल्कि शहर के तीन तीन जगह पर मकान है और सभी जगह उसका आना-जाना पाया गया है। शहर के तिऊर पाराव बाबूपारा में पला बढ़ा व शादी के बाद बीड़पारा के तायल गली में मकान बनाकर अपने दो बच्चों के साथ रहता था और फिर उसके बाद रामभाटा के बजरंगपारा में मकान बना रखा है और किराए पर भी दिया है।

भोलागली, तायल गली व बाबूपारा में दहशत का मंजर पड़ोसियों के चेहरे पर तनाव की लकीरें :

संक्रमित व्यक्ति अपने ईलाज के लिए घरघोड़ा से रायगढ़ आया था और 20 जून को रात 3:00 बजे अपने परिवार वालों के साथ डॉ रुपेंद्र पटेल के हॉस्पिटल गया था। जहां पर जांच उपरांत उसे अस्पताल के इंडोर ओपीडी में एडमिट कर दिया गया था। खास बात यह है कि इस शख्स को ना तो सर्दी की शिकायत थी मैं खांसी और बुखार के लक्षण दिखे ऐसे में अस्पताल में कुछ घंटे तक उसका ईलाज किया गया और फिर उसे रायपुर के रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल रिफर कर दिया क्या अस्पताल में भर्ती कराया गया था और अशर्फी देवी हॉस्पिटल के एंबुलेंस चालक कृष्णा साहू व कंपाउंडर विजय मैत्री उसे लेकर 21 जून की रात रायपुर पहुंचे और वहां भर्ती कराया। ईलाज के दौरान ने उसे क्वारंटाइन किया गया और ईलाज शुरू करते हुए उसका कोरोना टेस्ट भी गया था जिसमें बुधवार को कोरोना रिपोर्ट में उसके पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद शहर में हड़कंप मच गया है तो वही रायगढ़ शहर के अंदर कोरोना मरीज मिलने की खबर के बाद जिला पुलिस सकते में आ गया।

दूसरी ओर रिपोर्ट सामने आने के बाद अशर्फी देवी चिकित्सालय में सनसनी फैल गई। अशर्फी देवी हॉस्पिटल में एडिशनल एसपी अभिषेक ठाकुर, आईएस एनसी डॉक्टर भानु प्रताप पटेल के साथ ही पीएम डॉक्टर वर्मा अस्पताल पहुंचे और एहेतियातन वहां गंभीर मरीजों को छोड़ सभी मरीज को डिस्चार्ज करने के निर्देश दिए हैं।

अब सावधानी जरूरी है नहीं तो परिणाम हो सकते हैं घातक :

रायगढ़ में कोरोना कम्युनिटी संक्रमण के अंदेशे के बाद अब समय आ गया है कि लोग इस गंभीर वायरस को हल्के में ना लें और खुद की सुरक्षा के साथ दूसरों की सुरक्षा का भी ख्याल रखें इसके लिए जरूरी हो गया है कि लोग पहले से भी ज्यादा सावधानी बरतें चेहरे पर मास्क लगाकर ही घरों से निकले सोशल व फिजिकल डिस्टेंस का पूरा पालन करें। हाथों में सैनिटाइजर एवं साबुन से हाथ पैर साफ करके घर के अंदर घुसे इसके अलावा आप लोगों को भीड़ से बचने के लिए बहुत ज्यादा जरूरत है। बाजारों के खुलने के बाद जिस तरह से शहर के सड़कों पर भीड़ नजर आ रही है और लोग नियम सावधानी को दरकिनार कर खरीदारी और सैर सपाटा कर रहे हैं अगर अब इसको लेकर गंभीरता नहीं बरती गई इसके परिणाम कितने घातक हो सकते हैं इसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है इसलिए जरूरी हो गया है कि अब लोग नियमों का पालन करें और जितना अधिक हो सके अपने परिवार के साथ घरों में ही रहें।

बजरंगपारा में किरायेदार सहित चार लोग क्वॉरेंटाइन:

कोरोना संक्रमित व्यक्ति की डिटेल सामने आने के बाद आज स्वास्थ विभाग की टीम के साथ कोतवाली पुलिस सबसे पहले बजरंगपारा स्थित उसके मकान पहुंची वहां मकान में उसके साली और ससुर के अलावा दो किरायेदार कर्मी धीरज गुप्ता के अलावा ग्वालियर निवासी पूरन सिंह जो मन्नापुरम गोल्ड लोन में सुरक्षा कर्मी है के भी सम्पर्क में आया था जिस पर स्वास्थ्य विभाग ने चारों को होम क्वारन्टीन में रहने के निर्देश दिए हैं इसके बाद टीम बीड़पारा तायल गलयी पहुंची तो देखा मकान में ताला लगा है उसका परिवार में फिलहाल रायपुर में है ऐसे में पुलिस ने बजरंगपारा और भी पढ़ा के उस इलाके को सील कर दिया है।

लियो क्लब के 8 सदस्यों सहित एक कैमरामैन क्वॉरेंटाइन :

शहर भीतर संक्रमित का सबसे पहले रायगढ़ में ट्रीटमेंट चला था यहां कई प्रकार के टेस्ट लिए गए थे। ऐसे में स्वास्थ विभाग के मरीज के प्राइमरी कांटेक्ट में आने वाले अशर्फी देवी चिकित्सालय के प्रमुख डॉ रूपेंद्र पटेल, सीनियर लैब अटेंडेंट पुरुषोत्तम देवांगन, कंपाउंडर जितेंद्र पटेल, एंबुलेंस चालक कृष्णा, विजय मैत्री व गणेश भट्टाचार्य का कोरोना टेस्ट कराने का निर्णय लिया है।

अशर्फी देवी चिकित्सालय 72 घंटे के लिए सील :

अशर्फी देवी हॉस्पिटल से रिहा किए गए मरीज के कोरोनावायरस ले के बाद स्वास्थ्य विभाग में संक्रमण फैलने की आशंका को देखते हुए 3 दिनों के लिए अस्पताल को बंद कर दिया है और डॉ रुपेंद्र पटेल सहित राजकुमार पटेल, गणेश भट्टाचार्य, विजय मैत्री, लक्ष्मीदास मानिकपुरी, गिरिजा पटेल डॉ अशोक साहू पुरुषोत्तम देवांगन सेना जितेन पटेल कृष्णा साहू, त्रिलोचन पटेल, ओमकेश्वर कुर्रे, ओमप्रकाश साहू को 03 दिनों के लिए होम क्वारन्टीन किया गया है।

03 वार्डों में मची खलबली लोग दहशत में :

शहर में कोरोना संक्रमण के दस्तक के बाद हड़कंप चुका है। खासकर संक्रमित मरीज के निवास और आने जाने वाले जगह में खलबली मच गई है क्योंकि उक्त शख्स किसी एक जगह में नहीं बल्कि तीन तीन वार्ड के मोहल्ले में रहता है और पॉजिटिव मिलने से पहले तीनों ही जगह में उसका आना-जाना रहा है। ऐसे में तीनों वार्ड के लोगों के बीच दहशत व्याप्त हो चुका है हालांकि पुलिस ने तीनों वार्डों में संक्रमित के संपर्क में आए परिवार के मकान को आसपास के इलाके को सील कर दिया है फिर भी लोग डर रहे हैं क्योंकि संक्रमित के जाने के बाद उसके परिवार के सदस्यों का आसपास के इलाकों में आना-जाना लगातार रहा है और कई लोगों के संपर्क में भी आ चुके हैं।

शहर में बड़ा कम्युनिटी संक्रमण का खतरा:

जिला मुख्यालय में कोरोना पॉजिटिव निकलने की खबर से सभी लोग सकते में है। अब तक जिले में सामने आए कोरोना के सभी मरीजों की की ट्रेवल हिस्ट्री रही है। सभी लॉकडाउन के दौरान प्रदेश से बाहर आए हुए थे किंतु आज जो पयोजिटिव मरीज मिला है उसकी कोई भी ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। यह संक्रमित ना तो किसी दूसरे जिले में सफर किया है ना ही किसी दूसरे प्रदेश गया है। ऐसे में बिना किसी लक्षण के इस शख्स को कोरोना वायरस होने की पुष्टि के बाद शहर में कम्युनिटी संक्रमण की संभावना व्यक्त की जा रही है हालांकि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने कम्युनिटी संक्रमण की कोई पुष्टी नहीं कि है।

Shource Kelopravah