रायपुर:-नेताओं सहित अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था का होगा ऑडिट,एसपी होंगे जिम्मेदार, डीजीपी ने किया निर्देश जारी।

रायपुर 26 मई:- राज्य शासन ने प्रदेश के सभी सांसदों,मंत्रियों,विधायकों और अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से विशिष्ट व्यक्तियों को सुरक्षा श्रेणी प्रदान की गई है। सुरक्षा श्रेणी के अनुरूप अंगरक्षक और सुरक्षा अधिकारी लगाए गए हैं। इस संबंध में पुलिस महानिर्देशक डीएम अवस्थी ने आज बैठक लेकर विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने सभी पुलिस अधीक्षकों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं।
डीजीपी अवस्थी ने प्रदेश के सभी सांसदों, मंत्रियों, विधायकों और अन्य विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा व्यवस्था का ऑडिट करने कहा है। ताकि सुरक्षा श्रेणी में तैनात पीएसओ की कार्य शैली और क्षमता को परखा जा सके। वे अपने कर्त्तव्य पर नियमित रूप से उपस्थित हो रहे है या नहीं, साथ ही उनके अनुशासन, सजगता और उनकी कार्यक्षमता सुरक्षा मापदण्डों के अनुरूप है अथवा नहीं, इसका ऑडिट हो सके। डीजीपी अवस्थी ने कहा कि विशिष्टि व्यक्तियों के निवास और उनके प्रवास कार्यक्रमों पर संबंधित पुलिस अधीक्षक उनकी सुरक्षा के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार होंगे।डीजीपी ने इसके अलावा विशिष्ट व्यक्तियों को उपलब्ध वाहनों के रख-रखाव और चालक व फॉलो गार्ड में लगाए गए बल के शारीरिक दक्षता (फिजिकल फिटनेस) का भौतिक रूप से सुरक्षा ऑडिट के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री के प्रत्येक भ्रमण में न केवल पर्याप्त रूप से पुख्ता सुरक्षा रखी जाए, बल्कि सुरक्षा के प्रभावी प्रयास (एएसएल) भी किया जाए। जिले में भ्रमण के दौरान सभी गणमान्य व्यक्तियों के पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किया जाए।उन्होंने कहा है कि विशिष्टि व्यक्तियों के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में खासकर बस्तर संभाग, राजनांदगांव और कवर्धा प्रवास के दौरान अतिरिक्त रूप से सुरक्षा व्यवस्था लगाई जाए। यदि विशिष्ट व्यक्तियों को आवागमन सड़क मार्ग से हो तो रोड ओपनिंग पार्टी और एंटी सेबोटेज टीम की ओर से नियमित रूप से जांच करा लिया जाए।किसी भी प्रकार की लापरवाही ना हो सके।