रायगढ़/ कानून की धज्जियां उड़ाते हुए क्वॉरेंटाइन सेंटर से बाहर घूम रहे थे पुलिस ने किया FIR..!

  • होम आइसोलेशन अवधि पूर्ण न कर घूमते पाए गए 02 आरोपी पर सरिया एवं सारंगढ़ थाने में दर्ज अपराध

  • क्वॉरेंटाइन सेंटर से भागे 02 आरोपियों पर लैलूंगा थाने में अपराध दर्ज

रायगढ़ 06 जून। कोविड-19 की टेस्टिंग में इजाफा होने तथा श्रमिकों के संक्रमित राज्य व अन्य जिलों से आने पर कोविड-19 पॉजिटिव की संख्या में वृद्धि हुई है।

Covid-19 को लेकर जिला प्रशासन, जिला पुलिस व स्वास्थ्य विभाग बेहद संजीदा है लगातार सभी इस विभीषिका से जिलेवासियों को सुरक्षित रखने के कार्य में कोई कसर नहीं छोड़ रहें है, ऐसे में कुछ लोगों की गंभीर लापरवाही बड़ी परेशानी का कारण बन सकती है, ऐसे लापरवाह व्यक्तियों पर थाना सारंगढ़, सरिया एवं लैलूंगा में आज कार्यवाही की गई है ।

जानकारी के अनुसार क्वॉरेंटाइन सेंटर में 14 दिवस तक रखने के बाद संबंधितों को 14 दिवस होम आइसोलेशन के नियमों का पालन करने हेतु की हिदायत के साथ घर जाने दिया गया जिन्हें थाना प्रभारी एवं स्टाफ द्वारा समय समय पर चेक किया जा रहा है । 14 दिवस होम आइसोलेशन अवधि के बीच *ग्राम कमरीद, थाना सरिया एवं ग्राम पहंदा थाना सारंगढ़* के व्यक्ति अपने घर में ना रहकर घर के बाहर रिस्तेदारों एवं बाजार में घूमते देखे जाने पर तहसीलदार बरमकेला एवं सारंगढ़ द्वारा प्रतिवेदन कार्यवाही हेतु थाना सरिया एवं थाना सारंगढ़ में दिया गया है, जिस पर दोनों थानों में अलग अलग धारा 188,269,270 IPC के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है ।

वहीं थाना लैलूंगा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कुपाकानी के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखे गए दो व्यक्ति धरम साय पिता पंचराम एवं अनवर पिता भोजराम दिनांक 05.06.2020 के शाम क्वॉरेंटाइन सेंटर से भागकर कहीं चले गए थे । ग्राम रोजगार सहायक द्वारा थाने में इसकी सूचना दी गई । तब दोनों की पतासाजी कर उन्हें आज सुबह 7:00 बजे पुन: क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया है । दोनों के विरुद्ध क्वॉरेंटाइन नियमों का उल्लंघन करने पर थाना लैलूंगा में धारा 188 ,269,270 ता.हि. के तहत अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही की गई है ।

पुलिस अधीक्षक रायगढ़ द्वारा क्वॉरेंटाइन सेंटरों एवं होम आइसोलेशन में रखे गए व्यक्तियों को नियमित रूप से अलग-अलग समय पर चेक करने के निर्देश पूर्व में ही सभी थाना, चौकी प्रभारियों को दिए हैं तथा इस प्रकार की लापरवाही पर सीधे अपराध पंजीबद्ध करने उनका निर्देश है ।