लॉक डाऊन इफेक्ट: भूख के आगे मजबूर हुआ मजदूर

असीम पाण्डेय, रायगढ़ 17 मई। कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकने के लिए देश में चल रहे लॉकडाउन ने प्रवासी मजदूरों को मजबूर बना दिया है। पिछले कई दिनों से भूखे-प्यासे रहकर अपने घर के लिए निकले इन मजूदरों का धैर्य अब जवाब दे गया है। पेट की भूख के आगे ये मजबूर हो गए हैं और खाने के लिए तोड़फोड़ और छीनाझपटी पर उतारू हैं। शनिवार को भी इन मजदूरों ने भूख के चलते जबलपुर रेलवे स्टेशन पर लगे वेंडिंग मशीन को लूट लिया।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन में खाना नहीं मिलने पर फूट पड़ा गुस्सा

शुक्रवार को मुंबई से बिहार के दानापुर के लिए रवाना हुई श्रमिक स्पेशल ट्रेन शनिवार सुबह मध्य प्रदेश के जबलपुर रेलवे स्टेशन पर पहुंची थी। उस दौरान रास्ते में खाना-पानी नहीं मिलने से कुछ मजदूरों का गुस्सा वहां लेगी वेंडिंग मशीन पर टूट पड़ा। इन श्रमिकों ने मशीन को तोड़ दिया और उसमें रखी खाने-पीने की चीजों को लूट लिया। सुबह प्रवासी मजदूरों द्वारा वेंडिंग मशीन तोड़ने की घटना का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद रेलवे मंडल के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना की जांच की। इसमें वेंडिंग मशीन के टूटी मिली और खाने की चीजें गायब थीं।

घटना के समय स्टेशन पर मजदूरों को रोकने के लिए स्टेशन प्रशासन का कोई भी अधिकारी मौजूद नहीं था।
इसी तरह रेलवे पुलिस बल के जवान भी नहीं थे। ऐसे में भूखे मजदूरों ने वेंडिंग मशीन पर हमला बोल दिया। उन्होंने बताया कि ऐहतियात के तौर पर सभी स्टेशनों पर लगी वेंडिंग मशीनों को हटा लिया गया है। इसके अलावा रेलवे मंडल प्रशासन की ओर से स्टेशनों पर खाने-पीने की व्यवस्था की जा रही है।

देखे वीडियो डेस्क top व्यू में:

https://youtu.be/rb-AYJ6YNYM