फसल खराब होने से किसान ने फंदा लगाकर जान दी..! परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे गृहमंत्री..! 4 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा..!


दुर्ग, 05 अक्टूबर । छत्तीसगढ़ के दुर्ग में एक किसान ने फसल खराब होने के चलते फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उसका शव सोमवार सुबह उसके ही खेत में पेड़ से लटका मिला। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। मामला मचांदुर पुलिस चौकी क्षेत्र का है। मामले में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू किसान के परिवार से मिलने पहुंचे। उन्होंने जांच के साथ ही 4 लाख मुआवजा देने की घोषणा की है।

जानकारी के मुताबिक, मातरोडीह गांव निवासी दुर्गेश निषाद की डेढ़ एकड़ खेत थे। उसने 4 एकड़ खेत रेगहा (लीज) पर लेकर धान की फसल लगाई थी। फसल में ब्लास की बीमारी हो गई थी। इसके कारण फसल खराब हो गई। उसने बचाने के लिए कीटनाशक भी डाला, पर कोई फायदा नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि कीटनाशक भी नकली था।

सुसाइड नोट में फसल और आर्थिक स्थिति खराब होने की बात कही..!

फसल खराब होने पर वह काफी सदमे में आ गया। सुबह आसपास के ग्रामीण खेत में पहुंचे तो उसका शव पेड़ से लटक रहा था। इस पर उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें उसने फसल खराब होने और आर्थिक स्थिति बेकार होने की बात लिखी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

किसान की मौत मामले में जांच के आदेश..!

किसान की मौत मामले में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू किसान के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे और घटना की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र में सभी किसानों की फसलों की जांच करने के निर्देश कृषि अधिकारियों को दिए हैं। जिससे पता चल सके कि फसलों में कोई नई बीमारी तो नहीं आई है। वहीं रेगहा पर लिए गए खेत पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।