पढ़ाई तुंहर दुआर योजना में रायगढ़ जिला पूरे प्रदेश में तीसरे स्थान पर

1 लाख 17 हजार 122 विद्यार्थी तथा 10 हजार 932 शिक्षक पंजीकृत

3115 वर्चुअल कक्षा के संचालन के साथ 3006 असाइनमेन्ट भी किए गए है अपलोड

रायगढ़, 18 मई 2020/ छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण योजना अन्तर्गत ऑनलाईन पोर्टल पढ़ई तुंहर दुआर का शुंभारभ किया गया था। पोर्टल की सबसे बड़ी खासियत यह है कि स्कूल शिक्षा विभाग ने इस एजुकेशन आनलाईन पोर्टल को बिना किसी बाहरी मदद के स्वयं इसे तैयार किया है। इसकी प्रोग्रामिंग विभाग के डॉ.आलोक शुक्ला ने एनआईसी के प्रोग्रामरों के साथ मिलकर तैयार की है। इस प्रकार विभाग ने यह सॉफ्टवेयर बिना कोई धनराशि व्यय किये, नि:शुल्क तैयार किया है। जिसके द्वारा प्रदेश के शिक्षक, एक ही स्कूल नहीं वरन पूरे प्रदेश के छात्रों से जुड़कर शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। आनलाईन, इंटरएक्टिव कक्षाओं के माध्यम से पूरे प्रदेश के शिक्षक और बच्चे अपने-अपने घरों से ही विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़ रहे हैं। देश में अपने तरह का यह पहला बड़ा आनलाईन एजुकेशन पोर्टल है। जिसमें रायगढ़ जिले की स्थिति पूरे प्रदेश में अब तक तीसरे स्थान पर आ गई है।

कलेक्टर श्री यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में घर बैठे पढ़ाई योजना, पढ़ई तुंहर दुआर के प्रचार प्रसार हेतु जिले स्तर पर स्थानीय आश्यकताओं को ध्यान में रखते हुये सूचना शिक्षा संचार सामग्री/ क्रिएटिव तैयार कर, मीडिया प्रकोष्ठ एवं शिक्षा विभाग द्वारा रायगढ़ में बेहतर प्रयास किया जा रहा है। जिसके परिणाम स्वरूप रायगढ़ जिले में अब तक पंजीकृत शिक्षक 10,932 पंजीकृत विद्यार्थी 1,17,122 सहित कुल 1,28,054 का पंजीकरण किया जा चुका है। इसी क्रम में जिले में वर्चुअल कक्षा 3115 की संख्या में संचालित हो रही है। जिसके माध्यम से छात्र-छात्रायें घर बैठे लाभान्वित हो रहे हैं। रायगढ जिले में वर्चुअल कक्षाओं के माध्यम से अब तक कुल 3006 असाइमेन्ट अपलोड किये जा चुके है, जिसके तहत 274 बच्चों द्वारा किये गये शंका के सवालों में से 137 बच्चों की समस्या का निदान किया जा चुका है। इसी क्रम में जिले में 4500 टीएलएम को स्वीकृत कर उपयोग किया जा रहा है। इसी प्रकार टेलीग्राम एप द्वारा अब तक जिले में 10,193 शिक्षक आपस में जुड़ चुके हैं। स्कूल शिक्षा विभाग की पढ़ई तुंहर दुआर आनलाईन एजुकेशन पोर्टल के माध्यम से घर बैठे पढ़ाई की यह प्रभावी संकल्पना रायगढ़ जिले में साकार हो रही है। पूरी योजना के जिले में प्रभावी क्रियान्वयन हेतु जिला शिक्षा अधिकारी मनीन्द्र श्रीवास्तव, जिला समन्यवक रमेश देवागन, सहा. संचालक के.के.स्वर्णकार, एपीओ भुनेश्वर पटेल, भूपेन्द्र पटेल के द्वारा अहम भूमिका निभायी जा रही है।