नमक की जमाखोरी करने वालों के दबाव में आकर कलेक्टर महोदय दुकान का सील न खोले.. जनता के बीच गलत संदेश जाएगा

रायगढ़ 15 मई। रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार शशिकांत शर्मा ने रायगढ़ शहर में नमक की जमाखोरी एवं कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर प्रशासन द्वारा की जाने वाली कार्यवाही की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘जिला प्रशासन की इस कार्यवाही से ऐसे लोगों को सबक मिला है जो ऐसी विकट परिस्थिति में भी लोगों को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। पूरे शहर में जिला प्रशासन के द्वारा किए गए दुकान की सील बंदी एवं अर्थदंड की कार्यवाही की प्रशंसा हो रही है एक विश्वास शहर में जगह है ऐसे लोगों को ठीक करने में रायगढ़ के कलेक्टर यशवंत कुमार सक्रिय हैं और इस प्रकार की कार्यवाही लगातार उनके द्वारा किया जा रहा है।

अपनी लेखनी से अपने शब्दों के द्वारा उन्होंने लिखा है कि –

क्या लॉक डाउन में अनियमितता-
गैररकानूनी-अवांछित कर्मों के कारण कुछ दुकानों पर जुर्माने एवं उन्हें सील करने का यह पहला प्रकरण है??
नही न.तब अभी इतनी कपि-कूद क्यों?? प्रशासन को ब्लैकमेल करने,
अपने निर्णय को बदलने का नाटकीय दबाव किसलिये??
जिले के आला हुक्मरानों से अपेक्षा है कि सील की गई दुकानों के मालिकों एवं कल दुकानें बंद करने और करवाने वाले समाज के कंटकों पर राष्ट्रीय आपदा एवं महामारी नियंत्रण की कठोर धाराओं के तहत सख्त कार्यवाही कर इन तत्वों पर शिकंजा कसे।
जनता “चोरी और सीनाजोरी करने
वालों” के पुरजोर विरोध में लामबंद है एवं शासन-प्रशासन के साथ है।

वरिष्ठ पत्रकार शशिकांत शर्मा, रायगढ़