दोस्त ने रात को मछली पकड़ने जाने से किया था मना..! पर नहीं माने, पाइप में घुसे तो दोनों की मौत..!


अकलतरा । गुरुवार कोटमीसोनार निवासी दो चचेरे भाई विनोद धनुवार और गंगाराम धनुवार ने मछली पकड़ने के लिए कर्राभांठा जाने योजना बनाई। दोनों ने बाहर से आए अपने दोस्त संजू धनुवार को भी चलने कहा। संजू ने उन लोगों को रात में मछली पकड़ने जाने से मना किया, लेकिन दोनों नहीं माने। वे लोग तो गए ही साथ में संजू को भी ले गए। रात में बांध में उतरने से संजू ने मना कर दिया। दोनों युवक विनोद और गंगाराम मछली पकड़ने के लिए मच्छरदानी लेकर बांध में उतर गए। दोनों बांध से पानी निकालने के लिए लगे ह्यूम पाइप के अंदर घुस गए। इसके बाद वे वहीं फंस गए बाहर नहीं निकल सके। दाेनों युवकों की उसी पाइप में फंसने से मौत हो गई। शुक्रवार को बांध का पानी निकाला गया तो दोनों युवकों के शव पाइप से पानी के साथ बाहर अाया। ग्राम कोटमीसोनार के वार्ड नं. 3 धनवारपारा मोहल्ला के युवक विनोद धनुवार उसका चचेरा भाई गंगाराम धनुवार धैरोना कुंआ गांव से आए अपने मित्र संजू धनवार के साथ बीती रात 10 बजे घर में खाना खाने के बाद तीनों युवक कर्रानाला बांध मच्छरदानी को लेकर मछली पकड़ने के लिए पहुंचे। दोनों चचेरे भाई बांध में उतरे लेकिन संजू नहीं उतरा। बांध में पानी अधिक होने पर ओवरफ्लो के लिए एक ह्यूम पाइप लगाया गया है जिसमें से पानी बाहर निकल जाता है। पानी माइक्रो नाली में चला जाता है। मछली पकड़ते समय दोनों चचेरे भाई इसी ह्यूम पाइप के अंदर घुस गए। बाहर संजू दोनों का इंतजार करता रहा। बहुत देर तक इंतजार करने के बाद संजू ने दोनों को आवाज दी, लेकिन अंदर से न तो कोई आवाज आई और न ही कोई हलचल हुई। अनहोनी की आशंका होने पर संजू रात 11 बजे घर लौटा और दोनों युवकों के घरवालों को घटना की जानकारी दी। रात में ही दोनों के परिजन मौके पर पहुंचे और खोजबीन शुरू की।

रात के अंधेरे में नहीं चल सका पता..!

युवकों के परिजन तो रात में ही मौके पर पहुंच गए थे, लेकिन अंधेरा होने के कारण कोई अंदर घुसने की हिम्मत नहीं कर सका। रात भर मौके पर ही लोग इंतजार करते रहे। फिर बांध के पानी को कम करने के लिए बांध के गेट को खोलने की योजना बनाई गई। सुबह 5 बजे गेट खोला गया तो बांध का पानी ह्यूम पाइप से बाहर निकला। इसी पानी के साथ दोनों युवकों के शव एक- एक करके बाहर गिरे। मामले की सूचना मिलने पर एसआई बीपी तिवारी, आरक्षक शेष साहू के साथ घटना स्थल में पहुंचे। शव का पंचनामा, पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

गंगाराम इकलौता था, पिता की भी हो चुकी है मौत घटना में मृत विनोद धनुवार कक्षा 10वीं की पढ़ाई करने के बाद पढ़ाई को छोड़ दिया। घर में अपने पिता संतराम धनवार के साथ रोजी मजदूरी में हाथ बंटाता था। 3 भाई एवं 1 बहन में युवक दूसरे नम्बर का था। गंगाराम धनवार भी पढ़ाई छोड़ने के बाद अपनी माँ के साथ रोजी मजदूरी करता था। पिता संतराम धनवार का कुछ वर्ष पूर्व स्वर्गवास हो गया था। गंगाराम धनवार परिवार का इकलौता पुत्र था। बहन की कुछ वर्ष पूर्व शादी हो चुकी है।

जाने से मना किया बाद में अंदर नहीं गया: संजू..!

गुरुवार की रात 10 बजे घर में खाना खाने के बाद विनोद धनुवार एवं गंगाराम धनुवार ने कर्रानाला बांध मछली पकड़ने जाने के लिए मुझे कहा तो मैंने रात अधिक होने के कारण बांध जाने से मना किया, लेकिन वे दोनों नहीं माने और जिद करने लगे तो मैं भी उनके साथ गया। हम तीनों युवक रात्रि 10 बजे के बाद घर से निकले। दोनों भाई मछली पकड़ने के लिए उतरे। मैंं बाहर ही खड़ा था। घर से लाई गई मच्छरदानी को साथ में लेकर मछली पकड़ने के लिए ह्यूम पाईप के अन्दर विनोद एवं गंगाराम गये। कुछ देर बाद दोनों युवकों की आहट नहीं मिलने पर मेरे द्वारा युवकों के परिजनों को सूचना दी गई। देर रात 11 बजे खोजबीन शुरु करने के बाद भी पता नहीं चला। शुक्रवार की सुबह 5 बजे कर्रानाला बांध से गेट खोलकर पानी छोड़ने के बाद दोनों का शव पाईप से बाहर निकला।

जैसा दोनों युवकों के साथ गए संजू धनुवार ने बताया..!