जंगल के भीतर नरवा संवर्धन के निरीक्षण में पहुंचे कलेक्टर भीम सिंह

सीईओ जिला पंचायत एवं डीएफओ भी रहे साथ

संवर्धन के अंतर्गत बनाये जा रहे संरचनाओं का बारीकी से किया अवलोकन

रायगढ़ 27 जून 2020:- कलेक्टर भीम सिंह ने आज रायगढ़ वन परिक्षेत्र के अंतर्गत बंगुरसिया में वन विभाग द्वारा नरवा संरक्षण के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों के निरीक्षण में पहुंचे। सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी व वनमंडलाधिकारी मनोज पाण्डेय भी साथ रहे।

बंगुरसिया वन क्षेत्र के अंतर्गत चक्रधरपुर नाला में वन विभाग द्वारा नरवा संवर्धन व विकास के लिए व्यापक स्तर पर कार्य किया जा रहा है। जिसमें वैज्ञानिक पद्धतियों का प्रयोग कर जल के बहाव को नियंत्रित व दिशा देने का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाकर कार्य हो रहा है। जिसमें नाला ट्रीटमेंट के लिए फस्र्ट लाइन में लूस बोल्डर, चेकडेम ब्रश वुड चेकडेम तथा अर्थ गली प्लग तथा सेकेण्ड लाईन ट्रीटमेंट के तहत एलपीसी तथा गैबियन स्ट्रक्चर व चेक डेम बनाया गया है।

कलेक्टर सिह ने वनक्षेत्र में 5 किलोमीटर तक भीतर जाकर निर्मित सभी संरचनाओं का बारीकी से निरीक्षण किया और डीएफओ को नरूवा संवर्धन के अंतर्गत एरिया ट्रीटमेंट क्षेत्र को बढ़ाने के निर्देश दिये, जिसके लिए वन भूमि के समीप राजस्व भूमि में मनरेगा के तहत संवर्धन का कार्य किया जायेगा। जिसके लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट एक साथ ही तैयार कर वन और पंचायत विभाग समन्वय कर कार्य करें। इस दौरान कलेक्टर भीम सिंह ने नरवा संवर्धन कार्यक्रम को भूजल रिचार्ज सिंचाई के साथ वन संरक्षण की दिशा में कारगर कदम बताया। उन्होंने कहा कि नरवा बनने से वनों के प्राकृतिक संरक्षण को बल मिलेगा, वनोपज के उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने सभी कार्यो को गुणवत्तापूर्ण तरीके से करने के निर्देश भी विभागीय अधिकारियों को दिये।

कलेक्टर भीम सिंह जुनवानी ग्राम के नाले में वन विभाग द्वारा निर्माणाधीन स्टॉप डेम के निरीक्षण में पहुंचे वहां उन्होंने निर्माण कार्य स्थिति के साथ डेम में तकनीकी पहलुओं के साथ जल संग्रहण तथा लाभान्वित होने वाले क्षेत्र व लोगों के विषय में जानकारी ली। डीएफओ पाण्डेय ने बताया कि नाले कि किनारे से लगी भूमि पर लोग पंप निर्माण के माध्यम से जल सिंचाई के लिये लेते है। इस दौरान वन विभाग से प्रशिक्षु रेंज ऑफिसर श्रीमती लीला पटेल, डिप्टी रेंजर राजेश्वर मिश्रा, प्रोजेक्ट इंजीनियर श्री विकास गुप्ता सहित वन विभाग के कर्मचारीगण मौजूद रहे।