ग्राम पंचायत घिनारा विकास के नाम पर चढ़ा रहे पर्यावरण की बलि, घिनारा पंचायत के मुरुम खोदने से 5 हरें भरे वृक्ष धरासायी…!


कोरबा, (करतला) । जनपद पंचायत करतला अंतर्गत ग्राम पंचायत घिनारा का मोहल्ला कड़ीडुग्गू में ग्राम पंचायत की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। ग्राम पंचायत घिनारा का मोहल्ला बैगापारा से कारीडुग्गू पहुंच मार्ग में ग्रामीणों की मांग पर पंचायत ने मुरुमीकरण कार्य कराया जिसके लिए एक निजी स्थान के मुरुम को जेसीबी से खोद कर मुरुम निकाला गया। वही इस कार्य में बिना राजस्व न्यायालय के अनुमति के और पटवारी को सूचित किए ही पंचायत ने हरे भरे 5 पेड़ को जड़ सहित उखाड़ दिया। हैरानी की बात है कि इस बात की सूचना न तो पटवारी को दी गयी और न ही राजस्व न्यायालय से इसकी अनुमति प्राप्त की गई है। सचिव गोपी सिंह एवं सरपंच श्रीमती देवकी राठिया ने बिना किसी वैध अनुमति के राजस्व भूमि के 5 पेड़ जिसमें महुवा, और चार के पेड़ शामिल है। आपको बता दे कि ये हरे भरे पेड़ बिना अनुमति के काटे नही जा सकते है। बावजूद इसके सचिव और सरपंच ने किसी की परवाह किये बिना ही नियमों की खुद धज्जियां उड़ा दी। इस संबंध में वन विभाग ने भूमि को अपना नही बताया इसीलिए हम स्थानीय पटवारी से पूछे जिनके माध्यम से हमें पता चला कि उन्हें इस बारे में कुछ पता ही नही जबकि इस घटना को 7 दिन से ज्यादा समय बीत गया। पटवारी भी मामले में गोल मोल जवाब दे रहे है जबकि ऐसे समय में उन्हें अपने उच्च अधिकारियों को सूचना देना चाहिए परंतु ऐसा नही किया गया। वही इस सम्बंध में पंचायत सचिव गोपी सिंह से भी जानकारी लेनी चाही गयी पर उन्होंने फोन रिसीव नही किया।