कांग्रेस ने भेजी बसो की लिस्ट निकाला बाइक और ऑटो का नंबर…..

लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए कांग्रेस ने जिन 1000 बसों की लिस्ट यूपी सरकार को सौंपी थी उसमें भारी गड़बड़ी सामने आई है। सीएम याेगी के सलाहकार मृत्युंजय सिंह ने जानकारी दी कि जो बसों की लिस्ट प्राप्त हुई है उसमें बाइक, कार और थ्री व्हीलर के नंबर शामिल हैं। बसों की लिस्ट में गड़बड़ी पर यूपी सरकार ने कहा है कि और जगह की बजाया कांग्रेस 500 बसें गाजियाबाद और 500 बसें नोएडा ही भेज दे। 

बस की बजाय थ्री व्हीलर का नंबर अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने दावा किया है कि इस लिस्ट में घालमेल है। कांग्रेस द्वारा सौंपी गई लिस्ट का जिक्र करते हुए उन्होंने एक वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर का जिक्र किया है। 10 नंवबर 2016 को रजिस्टर हुई वाहन संख्या यूपी83टी1006 की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा है कि ये बस नहीं बल्कि एक थ्री व्हीलर है। इसी तरह मृत्युंजय कुमार ने कहा है कि आरजे14टीडी1446 एक बस न होकर कार है। दो तीन और वाहनों के साथ भी ऐसा ही मामला है। इसी तरह एक वाहन का जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी85टी6576 है। मृत्युंजय कुमार के मुताबिक जांच करने पर ये वाहन स्कूटर है, और ये वाहन पेट्रोल से चलती है।

प्रियंका गांधी ने मांगी थी 1000 बसें चलवाने की अनुमति 
इससे पहले, प्रियंका गांधी ने लॉकडाउन की वजह से फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए 1,000 बसों को चलाने की अनुमति मांगी थी, जिसे सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वीकार भी कर लिया था। हालांकि देर शाम इसमें भी पेंच फंस गया। यूपी सरकार ने उन्हें फिर से एक नया पत्र भेजा। पत्र में कहा गया है कि प्रियंका गांधी कलेक्टर (लखनऊ) को बसों का फिटनेस सर्टिफिकेट, ड्राइवरों का लाइसेंस और कंडक्टर्स का विवरण सुबह 10 बजे से पहले भेज दें। 

कांग्रेस ने इन बसों को राजस्थान से मंगवाया 
बता दें कि कांग्रेस ने बसों को राजस्थान से मंगवाया है, जहां पर सत्ता में है। प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील में कहा था, ‘मैं आपने अनुरोध करती हूं कि यह समय राजनीति करने का नहीं है। हमारी बसें सीमा पर खड़ीं है। हमारी बसों को फंसे मजदूरों को लाने की मंजूरी दी जाए।’