लैलूंगा/अस्पताल में मरीजों के लिए डाईट चार्ज बनाकर करें डिस्प्ले – कलेक्टर भीम सिंह

▪️कलेक्टर ने लैलूंगा पहुंचकर स्वास्थ्य सुविधाओं का लिया जायजा। ▪️लैलूंगा में निर्माणाधीन मातृ शिशु चिकित्सालय को 10 दिनों में पूरा करने ठेकेदार को दिए स्पष्ट निर्देश

पुलिस अधीक्षक व सीईओ जिला पंचायत भी रहे साथ

रायगढ़, 12 जून। कलेक्टर भीम सिंह ने कोरोना संकट के बीच जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को चाक-चौबंद रखने के लिए निरंतर प्रयासरत है। इसी क्रम में आज लैलूंगा में निर्माणाधीन मातृ एवं शिशु चिकित्सालय व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के निरीक्षण में पहुंचे। जहां उन्होंने मातृ एवं शिशु चिकित्सालय के ठेकेदार को अस्पताल अभी तक तैयार नहीं होने पर फटकार लगाई तथा अगले 10 दिनों में अस्पताल को तैयार करने के स्पष्ट निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते भविष्य में यदि आवश्यकता हुई तो लैलूंगा के मातृ शिशु चिकित्सालय को कोविड अस्पताल बनाया जाएगा।

कलेक्टर ने इसके पश्चात लैलंूगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का सघन निरीक्षण किया तथा वहां मरीजों को मिल रही स्वास्थ्य सुविधाओं का बारीकी से जायजा लिया। उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में बीएमओ से विस्तार से जानकारी ली जिस पर बताया गया कि इस अस्पताल में लैलूंगा तथा धरमजयगढ़ के दूरस्थ ग्रामीण अंचलों के साथ जशपुर जिले के मरीज भी इलाज के लिए पहुंचते है।

कलेक्टर ने अस्पताल के सभी वार्डों का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां भर्ती व इलाजरत मरीजों से व्यक्तिगत चर्चा कर उनके अनुभव जाने। उन्होंने अस्पताल में साफ-सफाई पर विशेष जोर देते हुए प्रबंधन को निर्देशित करते हुए कहा कि अस्पताल के शौचालय की दिन में तीन बार सफाई की जाए, गलियारों व कमरों की भी नियमित सफाई होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त अस्पताल परिसर की सफाई की व्यवस्था नगर पंचायत द्वारा किये जाने के निर्देश दिये।

कलेक्टर ने मरीजों को दिये जाने वाले खाने के बारे में जानकारी ली और कहा कि मरीजों को एक निश्चित डाईट चार्ट बनाकर दिन में तीन बार पौष्टिक आहार दिया जाये। साथ ही उस डाईट चार्ट को डिस्प्ले भी करे जिससे मरीजों को मिलने वाले आहार के बारे में जानकारी हो। इसके साथ ही उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध दवाई के स्टॉक तथा अन्य सुविधाओं के बारे में डॉक्टरों से जानकारी ली।

उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से कहा कि अस्पताल में ग्रामीण अंचलों से जरूरतमंद व गरीब बेहतर इलाज की उम्मीद से पहुंचते है। हमारा सतत् प्रयास हो कि उन्हें अच्छे माहौल में उचित खानपान के साथ बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैय्या करायी जाये। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी, एसडीएम लैलूंगा अभिषेक गुप्ता सहित अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।