अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की वापसी का सिलसिला जारी..गुजरात के खेड़ा नाडीयाड से चली स्पेशल ट्रेन से रायपुर स्टेशन पर उतरे 65 श्रमिक

रायपुर 15 मई। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर अन्य राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों और अन्य लोगों को लाने का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में गुजरात के खेड़ा नाडीयाड से चली श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आज सबेरे रायपुर स्टेशन पर 65 श्रमिक उतरे। इनमे बलौदाबाजार जिले के 45, धमतरी जिले के 6, राजनांदगांव जिले के 6 और कोंडागांव जिले के 8 श्रमिक शामिल थे। इसके बाद यह ट्रेन बिलासपुर होकर चांपा के लिए रवाना हुई।

श्रमिकों के रायपुर स्टेशन आगमन पर फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उन्हें दो-दो बोगियों से बारी-बारी से उतारा गया। यहां सभी श्रमिकों की मेडिकल टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच, थर्मल स्क्रीनिंग और पल्स ऑक्सीमीटर से उनके तापमान के साथ-साथ पल्स एवं ऑक्सीजन सांद्रता की भी जांच की गई। इसके बाद उन्हें विशेष बसों से उनके जिलों के क्वारेन्टाइन सेन्टर भेजा गया। सभी श्रमिकों ने लाइन में लगकर सोशल डिस्टेंसिंग बनाते हुए स्वास्थ्य परीक्षण के बाद ही स्टेशन से बाहर निकले। सभी श्रमिकों को हिदायत दी गई की वे 14 दिन क्वेरेंटाइन में रहें तथा कोरोना से बचाव एवं रक्षा के लिए सभी निर्देशों का पालन करें। श्रमिकों को क्वारेन्टाइन सेन्टर भेजने के बसों की भी व्यवस्था की गयी थी। उन्हें यहां पैक्ड भोजन भी प्रदान किया गया। ट्रेन आगमन के पहले स्टेशन के प्लेटफार्म को सैनिटाइज किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गौरव कुमार सिंह, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी श्री विनीत नन्दनवार सहित रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी एवं स्टेशन डायरेक्टर श्री बीपीटी राव भी उपस्थित थे।