जोगी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा : अमित जोगी आदिवासी था, है और रहेगा.. !


रायपुर । 13 अक्टूबर । मरवाही सीट पर चल रहे सियासी रंग बदलते नजर आ रहा है। कांग्रेस एक तरफ अमित जोगी को चुनाव लडने से रोकने के लिए जाति को हथियार बनाया है । अब कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) अध्यक्ष अमित अजीत जोगी ने जाति के मुद्दे पर एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें चुनाव लड़ने से रोकने की साजिश चल रही है और इसके लिए कांग्रेस किसी भी हद तक जा सकती है। रिचा जोगी के जाति के उठे विवाद के बीच अमित जोगी ने कहा मेरा और मेरी पत्नी का जाति प्रमाणपत्र अब तक निरस्त नहीं हुआ, ये भी सरकार की साजिश है। सरकार नामांकन के आखरी वक्त का इंतजार कर रही है, ताकि उस समय हमारे सामने कोई रास्ता न बचे मुझे अपने परिवार की सामाजिक प्रतिष्ठा की रक्षा के लिए उन्होंने देश के सबसे बड़े न्याय का मंदिर सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। चुनाव लड़ने के अपने मौलिक अधिकार की रक्षा के लिए मैंने सुप्रीम कोर्ट में रिट याचिका दायर की।अमित जोगी ने कहा देश की न्याय व्यवस्था मुझे अटूट विश्वास है हर बार की तरह इस बार भी मुझे न्याय मिलेगा, कांग्रेस की सरकार चाहे जितने भी हथकंडे अपना ले, असली नकली का फैसला मरवाही की जनता की असली अदालत में होगा, अमित जोगी आदिवासी था, आदिवासी है, आदिवासी रहेगा और मरवाही से ही चुनाव लड़ेगा।अमित जोगी ने कहा हमारे सामने कोई रास्ता न बचे मुझे अपने परिवार की सामाजिक प्रतिष्ठा की रक्षा के लिए न्याय के सर्वोच्च मंदिर जाना जरूरी।