खरसिया ब्रेकिंग / ग़रीब पीड़ित विधवा महिला से धोखाधडी… पिता और पुत्र ने मिलकर हड़प लिये 2,46,000/- रूपये… पति की सड़क दुर्घटना में मौत के बाद मिले थे रूपये.. रकम वापस नही मिलने पर विधवा महिला की शिकायत पर खरसिया थाना में रिपोर्ट दर्ज.. पढ़ें पिता और पुत्र की धोखाधडी की कहानी..!


खरसिया 19 नवंबर । खरसिया थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गरीब विधवा महिला से धोखाधडी कर लाखों रुपयें को हड़पने का मामला सामने आया है। वहीं गरीब विधवा महिला की 3 वर्ष की छोटी सी बच्ची है। पति की मोटर दुर्घटना से हुई मौत से मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण द्वारा 54,60,00/- पाँच लाख छियालिस हजार रूपये न्यायालय रायगढ परिसर स्थित ओरिएंटर बैंक ऑफ कामर्स के विधवा महिला के एकाउण्ट के खाते मे जमा कराया गया था। जिसे पिता वह पुत्र दोनों ने मिलकर छल कपट कर विधवा महिला से धोखाधडी कर हड़प लिये। पीड़ित विधवा महिला की शिकायत पर खरसिया थाना में रिपोर्ट दर्ज कर धारा 406, 34 के तहत् अपराध अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया।

मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित विधवा महिला जैमुरा निवासी सरिता निषाद उम्र 35 वर्ष है । बता दें की 25 जनवरी 2016 को सरिता निषाद की पति की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। जिसके सम्बंध में मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण द्वारा 54,60,00 /- पाँच लाख छियालिस हजार रूपये न्यायालय रायगढ परिसर स्थित ओरिएंटर बैंक ऑफ कामर्स के सरिता निषाद के एकाउण्ट के खाते मे जमा कराया गया था । वहीं जमैरा निवासी तेजराम, सरिता निषाद के पास जाकर सहयोग करने की बात कहा। फिर तेजराम एवं उनके पुत्र सुनील कुमार दोनों के साथ माह फरवरी 2019 में न्यायालय परिसर स्थित मेरे बैंक खाते में से 50,000/- पचास हजार रूपये निकालने गई थी । जहाँ तेजराम व उसके पुत्र सुनील कुमार दोनों मिलकर तुम्हे बार – बार रायगढ आना नहीं पड़ेगा तुम फार्म भर दो पैसा नंदेली के बैंक में तुम्हारे नाम से कर देंगे वहां और वहाँ से हम लोग निकाल देंगे बोले और सरिता निषाद से कुछ फार्म एवं कोरे कागज पर हस्ताक्षर करवा लिये। साथ ही सरिता निषाद के खाते से पैसा आहरण के लिए बिना रकम भरे हुए सेल्फ चेक में हस्ताक्षर कराये थे। रायगढ से घर आने के बाद कई बार तेजराम एवं सुनील से मिली भी थी। उनके द्वारा रायगढ से पैसा नहीं आने की बात कहकर सरिता निषाद को रकम नहीं दे रहे थे। तब सरिता निषाद पिछले बरसात महिने में अपने मामा के साथ रायगढ गई वहाँ बैंक मे जाकर पासबुक दिखाने पर बैंक वालों द्वारा माह फरवरी 2019 में ही सरिता निषाद के खाते से 2,46,000/- दो लाख छियालिस हजार रूपये का OW/SAA665174 में अंतरण करने की बात बताई गई। तब रायगढ से वापस आकर गाँव में दो तीन बार पंचायत होने के बाद भी सरिता निषाद को उसकी रकम नहीं दे रहे हैं।

पुरी घटना को देखकर यह पता चलता है की सरिता निषाद के बैंक खाते से छल कपट पूर्वक कोरे चेक एवं फार्म के साथ कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराकर हड़प लिया गया है। जिससे रकम को सरिता निषाद को नहीं दे रहें हैं। साथ ही धोखाधड़ी किया है। गरीब विधवा महिला की करीब 3 वर्ष की छोटी बच्ची है । जिसकी भरण पोषण हेतु कोई साधन नहीं है । तेजराम उनके पुत्र सुनील कुमार द्वारा हड़पे गये रकम को वापस दिलाते हुए उनके ऊपर आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की गई।

पीड़ित विधवा महिला की शिकायत पर खरसिया थाना में रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना में लिया गया है।