खरसिया/ ग्राम पंचायत दर्रामुड़ा सरपंच द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र में महिला बाल विकास योजना अन्तर्गत शौचालय निर्माण में बरती गई लापरवाही, शौचालय निर्माण में शोकता गड्ढा नहीं बनाया गया ! प्राथमिक शाला भूषणपारा दर्रामुड़ा के शौचालय के शोकता गड्ढे में अटैच कर कर दिया गया शौचालय.. जांच की जरूरत..!


खरसिया । जनपद पंचायत खरसिया अन्तर्गत ग्राम पंचायत दर्रामुड़ा के प्राथमिक शाला भुषणपारा दर्रामुड़ा स्कूल के पास आंगनबाड़ी केंद्र है। जहां छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ाया जाता है शिक्षा दी जाती है। वहीं आसपास के मोहल्ले के छोटे बच्चे आंगनबाड़ी केंद्र जाते हैं। जैसा कि आप जानते ही हैं की आंगनबाड़ी से ही बच्चों को शिक्षा मिलती है और आगे भविष्य के लिए अग्रसर होते हैं।आंगनबाड़ी केंद्र में छोटे-छोटे बच्चों के लिए हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध होती है। खाने – पीने पढ़ाई लिखाई व बच्चों के लिए मनोरंजन खिलौना इत्यादि उपलब्ध होती है। साथ ही छोटे-छोटे बच्चों के लिए शौच के लिए शौचालय भी होते हैं।


आपको बता दें खरसिया ब्लॉक अन्तर्गत ग्राम पंचायत दर्रामुड़ा के भुषणपारा दर्रामुड़ा स्कूल में आंगनबाड़ी केंद्र है। जहां छोटे-छोटे बच्चों को शिक्षा दी जाती है। वहीं यहां एक समस्या यह है की आंगनबाड़ी में छोटे-छोटे बच्चों को शौच के लिए भारी दिक्कत व परेशानी को सामना करना पड़ रहा था । शौचालय नहीं होने से बच्चों को बहुत परेशानी होती थी। आंगनबाड़ी केंद्र के समस्त टीचरों द्वारा इस विषय पर शौचालय निर्माण के लिए उच्च अधिकारियों से मांग कि गई की दर्रामुड़ा भुषण आंगनबाड़ी केंद्र में शौचालय निर्माण किया जाए।इस विषय को देखते हुए उच्च अधिकारियों ने आंगनबाड़ी केंद्र में शौचालय निर्माण के लिए 12000 रू महिला बाल विकास योजना के अंतर्गत स्वीकृति राशि सरपंच को दी, साथ ही सरपंच को निर्देश दिया गया कि ग्राम पंचायत दर्रामुड़ा, भुषणपारा दर्रामुड़ा स्कूल के आंगनबाड़ी केंद्र में शौचालय निर्माण करें।यहां सरपंच द्वारा लापरवाही पूर्वक शौचालय निर्माण किया गया ।


आपको बता दें कि ग्राम पंचायत दर्रामुड़ा में भुषणपारा दर्रामुड़ा के आंगनबाड़ी केंद्र में शौचालय की मांग पर उच्च अधिकारियों ने शौचालय निर्माण के लिए सरपंच को स्वीकृति दी थी वही शौचालय निर्माण के लिए सरपंच को निर्देश दिया गया था।। आंगनबाड़ी में महिला बाल विकास योजना के अंतर्गत शौचालय निर्माण करने के पूर्व आंगनबाड़ी केंद्र के मैडमों को सुचना नहीं दिया गया । सरपंच द्वारा अपने मन से आधा अधुरा शौचालय निर्माण किया ।सरपंच द्वारा,महिला बाल विकास योजना अन्तर्गत आंगनबाड़ी शौचालय निर्माण के शोकता गढ्ढा को नही बनाया गया और प्राथमिक शाला भूषण पारा दर्रामुड़ा के शोकता गढ्ढा मे अटैच कर दिया गया।


आंगनबाड़ी केंद्र जहां स्थित है वहां प्राथमिक शाला दर्रामुड़ा स्कूल है, वही प्राथमिक शाला दर्रामुड़ा स्कूल के शौचालय को NTPC द्वारा निर्माण किया गया है। सरपंच द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र में महिला बाल विकास योजना के अंतर्गत शौचालय निर्माण किया गया है लेकिन आधा अधुरा। आंगनबाड़ी के शौचालय को प्राथमिक शाला दर्रामुड़ा के शौचालय के पास बनाया गया है। सरपंच द्वारा आंगनबाड़ी शौचालय के लिए टंकी और गड्ढा भी नहीं खोदा गया जहां शौच का शोकता गढ्ढा नही बनाया गया । वही पास में प्राथमिक शाला का शौचालय होने से उसी के शोकता गढ्ढा में पाइप के माध्यम से अटैच कर दिया गया है आधा अधुरा शौचालय निर्माण कर दिया गया है।

देखें वीडियो


कहना ये है कि उच्च अधिकारियों द्वारा शौचालय निर्माण के जितना स्वीकृति दी गई थी उसके आधार पर शौचालय निर्माण नहीं किया गया है। सवाल यह उठता है कि आंगनबाड़ी केंद्र में महिला बाल विकास योजना के अन्तर्गत शौचालय निर्माण किया गया तो उसके लिए टंकी व शोकता गढ्ढा क्यों नहीं बनाया गया..?