हैदराबाद रिटर्न परिवार ने पूरे शहर को डाला खतरे में, शहर भीतर 06 से अधिक कंटेंटमेंट जोन, उद्योगपति परिवार का रूपाणाधाम प्लांट भी हुआ सील.. अलर्ट रहिये..!


रायगढ़ 30 जून। एक समय ऐसा था जब रायगढ कोरोना मुक्त होने की स्थिति में था लेकिन यहां के लोगों की लापरवाही और असावधानी के कारण कोरोना ने अब अपने पांव पसारना शुरू कर दिया है।

जैसा की आप सभी को पता है फ्रेंड्स कॉलोनी में 22 लोग हैदराबाद से वापस आए थे और इतनी बड़ी लापरवाही इन्होंने किया कि जिसे आज हम सभी भुगत रहे हैं। हैदराबाद से वापस आने के बाद उन्होंने प्रशासन को अपने वापसी की जानकारी नहीं दी और तो और होम क्वॉरेंटाइन भी नहीं हुए । कुछ दिन गुजर जाने के बाद इस परिवार के लोगों ने प्रशासन को  सूचना दी लेकिन तब तक देर हो चुकी थी । शुरुआत में इस परिवार से 02 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो वहीं बाद में 11 और लोगों को कोरोना ने अपना शिकार बना लिया है।

CMO आफिस भी कोरोना की रिपोर्ट जानने गए थे परिवार के सदस्य :

बताया जा रहा है कि इस परिवार के कुछ सदस्य अपना कोरोना रिपोर्ट जानने के लिए covid 19 होम क्वॉरेंटाइन के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए मुख्य चिकित्सा ऑफिस भी गए थे और वहां भी इन्होंने कोरोना का भय फैला दिया है।सीएमओ ऑफिस में भी वहां के कर्मचारियों में दहशत का माहौल है और ऐतिहात के तौर पर वहां एक डॉक्टर समेत पांच लोगों को होम क्वॉरेंटाइन में रखा गया है तथा साथ ही साथ सभी का कोरोना टेस्ट भी लिया जा रहा है

सराईपाली स्थित रुपाणाधाम प्लांट हुआ सील :

बताया जा रहा है कि उद्योगपति परिवार के सदस्य सराईपाली स्थित अपने रुपाणाधाम प्लांट भी गए थे जहां उनके संपर्क में आएं 08 कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट हेतू स्वाब का सैंपल लिया गया है। अगर किसी भी कर्मचारियों का रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आता है तो उद्योगपति परिवार का एक और प्लांट है बांके बिहारी इस्पात को भी प्रशासन सील कर संपर्क में आए सभी कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट करेगा। विदित हो कि उद्योगपति परिवार का लक्ष्मीहाइट्स में ऑफिस था इसलिए कल लक्ष्मीहाइट्स को भी प्रशासन ने सील कर दिया है।

उद्योगपति परिवार ने रायगढ़ शहर का किया जीना दुश्वार :

एक परिवार ने लाखों की जनसंख्या वाले रायगढ़ शहर का जीना हराम कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस प्रशासन, फ्रेंड्सकॉलोनी के रहवासी, लक्ष्मी हाइट्स के रहवासी, फैक्ट्री के कर्मचारी, मुख्य चिकित्सा ऑफिस के कर्मचारी सभी के मन में एक डर घुस चुका है की ये कोरोना महामारी कब किसे कैसे अपना शिकार बना ले। एक बड़े रईस परिवार के कारण आज पूरा शहर भुगत रहा है। फ्रेंड्स कॉलोनी अभी शहर का हॉटस्पॉट बना हुआ है लेकिन इसके अलावा अन्य ऐसे कई मोहल्ले हैं जहां कोरोना ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। फ्रेंड्स कॉलोनी निवासी इस परिवार के कारण पूरा शहर हलाकान हो चुका है।

शहर में कई मोहल्ले बने हुए हैं कंटेंटमेंट जोन :

फ्रेंड्स कॉलोनी के अलावा बजरंगपारा, बाबूपारा, भोलेगली, चमड़ा गोदाम आदर्श नगर, राजीव नगर, अशर्फी देवी चिकित्सालय व सोनुमुड़ा कंटेंटमेंट जोन बना हुआ है जिसके कारण शहरवासियों का इन सभी इलाकों में आवाजाही पूरी तरह से बंद हो चुका है पूरा एरिया कोरोना की दहशतगर्दी व भय का शिकार है।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर शहर में बन्द हुआ ऑटो का परिचालन :

सोनूमुड़ा निवासी एक ऑटो ड्राइवर ड्राइवर को कोरोना वायरस ने अपना शिकार बनाया तो आज उस एक व्यक्ति के असावधानी के कारण पूरे ऑटो चालकों को आर्थिक समस्या से पुनः जुझने की नौबत आ गई है। 05 जुलाई तक शासन ने ऑटो का परिचालन बंद कर दिया है।

आपको बता दें कि रायगढ़ शहरी क्षेत्र में है 19 कोरोना के सक्रिय मरीज हैं तो पूरे रायगढ़ जिले में 34 मरीज एक्टिव है जबकि अभी सैकड़ों कोरोना रिपोर्ट आने बाकी हैं।