रायगढ़/ श्रद्घा के साथ मनाई गई महान देशभक्त वीर शहीद भगत सिंह की जयंती..!


24×7 डेस्क। भगत सिंह का जन्म 27 सितंबर 1907 को लायलपुर जिले के बंगा में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है। उस समय उनके चाचा अजीत सिंह और श्‍वान सिंह भारत की आजादी में अपना सहयोग दे रहे थे। ये दोनों करतार सिंह सराभा द्वारा संचालित गदर पाटी के सदस्‍य थे। भगत सिंह पर इन दोनों का गहरा प्रभाव पड़ा था। इसलिए ये बचपन से ही अंग्रेजों से घृणा करने लगे थे। भगत सिंह करतार सिंह सराभा और लाला लाजपत राय से अत्यधिक प्रभावित थे। 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड ने भगत सिंह के बाल मन पर बड़ा गहरा प्रभाव डाला।

आज हमारे भारत के वीर जवान अमर शहीद भगत सिंह जी की जयंती है भगत सिंह जी भारत के हर युवा के आदर्श हैं उनके आदर्शों का स्मरण करते हुए उनके जयंती दिवस पर भाई कन्हैया जी सेवा जत्था, विश्व हिंदू परिषद रायगढ़ एवं बजरंग दल जिला रायगढ़ के स्वयंसेवकों ने भावपूर्ण रूप से उनकी प्रतिमा पर दुधाभिषेक किया गया, उसके बाद देश के लिए किए उनके बलिदान को स्मरण कर सम्मान पूर्वक उन्हें माल्यार्पण किया गया।

देश के प्रति उनके प्रेम को याद कर भारत माता की जय एवं वन्दे मातरम के जयघोष भी लगाए गए और आज के भारत को एक संदेश देने का प्रयास किया गया कि जो देशभक्ति श्री भगत सिंह जी के ह्रदय में थी वो भारत के हर बच्चे के ह्रदय में होनी चाहिए। जब भारत के हर बच्चे में भगत सिंह जी के आदर्श वास करेंगे, तब हमारे भारत को विश्वगुरु बनने से कोई नहीं रोक सकता।