रायगढ़ में जिंदल कर्मी से लूटपाट करने वाले 2 आरोपीयों को पुलिस ने किया गिरफ्तार.. 03 की तलाश जारी.. पढ़े खबर..!


रायगढ़। जिंदल पावर लिमिटेड तमनार में डिप्टी मैनेजर के पद पर कार्यरत डमरूधर त्रिवेदी के साथ 15 अक्टूबर की रात पूंजीपथरा थाना क्षेत्र के बडगांव के पास हुए लूटपाट मामले में पूंजीपथरा पुलिस ने दो आरोपियों को घटना के 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया है। वहीं 3 आरोपी अभी फरार हैं जिनकी तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है। पुलिस के अनुसार जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी हो सकती है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार 15 अक्टूबर की रात 8.30 बजे पंजरीप्लांट चक्रधर निवासी जिंदल पावर लिमिटेड तमनार में डिप्टी मैनेजर केे पद पर कार्यरत डमरूधर त्रिवेदी पिता स्व. धनेश्वर प्रसाद त्रिवेदी उम्र 49 साल प्रतिदिन की तरह अपने बाइक सीजी 13 यूबी 4701 बजाज डिस्कवर से ड्यूटी करने जिंदल पावर लिमिटेड तमनार पर जा रहे थे तभी रात्रि करीब 8.30 बजे बडगांव जंगल के पास सुनसान व एकांत रास्ता देखकर लूटेरों में डमरूधर त्रिवेदी के बाइक को ठोकर मार दिये जिससे वे बाइक सहित नीचे गिर गये जिसके बाद आरोपियों में डमरूधर त्रिवेदी के साथ मारपीट करते हुए उनके मोबाइल फोन, पर्स, हेल्मेट और बाइक को लूट कर फरार हो गये। जिसके बाद डमरूधर त्रिवेदी ने घटना की रिपोर्ट पूंजीपथरा थाने में दर्ज करायी थी। मामले में पूंजीपथरा पुलिस ने धारा 394 भादवि के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया था। तथा तत्काल हरकत में आते हुए पूंजीपथरा पुलिस द्वारा एसपी महोदय को घटना की जानकारी दी गई।

जिसपर एसपी संतोष कुमार सिहं द्वारा सीएसपी अविनाश ठाकुर को आरोपी को जल्द पकड़ने के निर्देश दिये थे जिसके बाद थाना पूंजीपथरा टीआई मनीश नागर के पहल पर थाना स्टाफ उप. निरी. गिरधारी साव, आरक्षक विनोद शर्मा, धर्मेन्द्र प्रताप सिंह, बालचंद मोहन राव, की टीम द्वारा अज्ञात आरोपियों तलाश किया तथा घटना के 24 घंटे के भीतर मामले में 2 आरोपी करण यादव पिता उमेश यादव 19 साल निवासी कृष्णापुर कोतरारोड और हिमांशु प्रधान पिता अरूण प्रधान उम्र 19 साल निवासी ढिमरापुर दिनदयाल कॉलोनी रायगढ़ को हिरासत में लेकर पुछताथ किया गया। पुछताछ में पता चला कि उनके 3 और साथी घटना में शामिल थे। जो अभी फरार हैं। जिनकी तलाश की जा रही है। जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी हो जाएगी। पकड़े गये आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने लूटी गई बाइक, मोबाइल व पर्श बरामद कर लिया है। और आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा जा रहा है।