रायगढ़/ दशहरा पर्व पर कोरोना संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर भीमसिंह ने जारी किया दिशा निर्देश.. रायगढ़ में रावण दहन के दौरान कई निर्देशों का कड़ाई से करना होगा पालन अन्यथा कानूनी शिकंजा कसा जाएगा ! यदि कोई भी व्यक्ति पुतला दहन स्थल पर जाकर संक्रमित होता है तो उसके इलाज का पूरा खर्चा पुतला दहन समिति करेगी, और भी है बहुत कुछ ! पढ़े आदेश और जानें क्या है दशहरा का प्रशासनिक गाईडलाइन..?


रायगढ़, 03 अक्टूबर। नवरात्री आने में महज कुछ ही दिन बचे हैं, इस बार 17 अक्टूबर को नवरात्रि शुरु हो रही हैं वहीं विजया दशमी का पर्व 25 अक्टूबर के दिन मनाया जाएगा। दशहरा के दिन प्रभु श्रीराम ने रावण का वध किया था, इसके साथ ही ये भी मान्यता है कि इसी दिन मां दुर्गा ने राक्षस महिषासुर का वध किया था। मान्यता है कि इस दिन जो भी काम किया जाता है, उसका शुभ लाभ अवश्य प्राप्त होता है। दशहरा को बुराई पर अच्छाई की जीत का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता है। नवरात्रि दशहरा हिन्दू धर्म का प्रमुख त्यौहार है। इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई की जीत और असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है।

प्रदेश समेत रायगढ़ में कोरोना का कहर जारी है। इसके मद्देनजर रायगढ़ में इस बार रावण पुतला दहन पर प्रशासन ने जरूरी गाइडलाइन जारी की है। इस बार कोरोना के कारण दशहरे में रावण पुतला दहन तथा दुर्गा पूजा में प्रशासनिक नियम कानून के तहत कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

रायगढ़ जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है उसे रोकने तथा संक्रमण को कम करने के उद्देश्य से आगामी दशहरा पर्व मैं रायगढ़ जिले के सभी स्थानों में जहां-जहां पुतला दहन कार्यक्रम आयोजित किया जाता है उन सभी को बुलाकर एक बैठक रखा गया बैठक में जो भी बातें हुई जो निर्णय लिए गए उसके अनुसार जिला कलेक्टर भीम सिंह ने नए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।

जिला प्रशासन द्वारा जारी दशहरा पर्व पर गाइडलाइंस –