रायगढ़/ कोतरा रोड हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में मंदिर तोड़े जाने पर जमकर हुआ बवाल.. लॉक डाऊन की परवाह किये बिना कॉलोनीवासी उतरे सड़क पर.. मौके पर प्रशासन व पुलिस ने किया हस्तक्षेप.. देखें एक्सक्लूसिव वीडियो..!


रायगढ़। आम तौर पर शांत कहे जाने वाले रायगढ़ शहर में बहुत कम ऐसे मामले सामने आते है जब भीड़ में नाराज लोग अपनी बातों को लेकर अड़ जाते है,और पुलिस-प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ता है।

मंदिर तोड़ने तथा मूर्ति ले जाने से नाराज कॉलोनीवासी उतरे सड़क पर :

कल घटी घटना में सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत कोतरा रोड हाउसिंग बोर्ड कालोनी में निर्माणाधीन हनुमान मन्दिर को कथित रूप से शशिकान्त शर्मा इंजीनयर हाउंसींग बोर्ड के द्वारा तोड़ दिया गया और जबरन भगवान की मूर्ति अपने साथ ले गया जिससे कॉलोनीवासी बुरी तरह नाराज हो गए। नाराजगी इतनी बढ़ गयी कि कॉलोनीवासी इकठ्ठे होकर बड़ी संख्या में इस घटना के विरोध में एक साथ सड़क पर उतर आए। जैसे ही इस मामले की जानकारी प्रशासन को हुई तब नाराज कॉलोनी वासियों मान मनव्वल करने के लिए सिटी कोतवाली पुलिस और जिला प्रशासन को सीधे रूप से हस्तक्षेप करने आना पड़ा।

नाराज लोगों ने घण्टों कॉलोनी के बाहर लाकडाऊन की परवाह किए बगैर बड़ी संख्या में उपस्थित होकर जमकर बवाल किया जिससे परेशान प्रशासन ने हाउसिंग बोर्ड के इंजीनियर को तोड़े गए मन्दिर में वापस भगवान की मूर्ति लाकर रखने और कालोनी वासियों को हाउसिंग बोर्ड से विधिवत मन्दिर की भूमि खरीद कर मन्दिर बनाने की समझाइस दी गई। तब जाकर मामला शांत हुआ।

देखें वीडियो :

इंजीनियर शर्मा ने किया खेद प्रकट :

खबर लिखे जाने तक इंजीनयर शर्मा ने कॉलोनी वासियों के सामने प्रशासन के कहने पर खेद प्रकट करते हुए वापस भगवान हनुमानजी सहित मन्दिर में स्थापित अन्य भगवानों की मूर्ति वापस कर दी। उसने बताया कि लाकडाउन के दौरान जिस जगह पर कॉलोनीवासी सामूहिक मन्दिर बना रहे थे वह जगह हाउसिंग बोर्ड की व्यवसायिक भूमि है। इसे उन्होंने बोर्ड से नहीं खरीदा है।मन्दिर बनाने के पहले भूमि खरीदने का आवेदन करना था। इधर शर्मा के आरोप से बिफरे कालोनीवासियों ने कहा कि – बोर्ड ने उनसे पूरी रकम लेकर आधी-अधूरी व्यवस्था के सांथ कालोनी में घर हमें बेच तो दिया।

निजी कॉलोनी गोकुलधाम का रास्ता भी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से ही है जो गलत है :

कॉलोनीवासियों का कहना है कि कॉलोनी की सुविधाओं को लेकर बोर्ड के अधिकारी बेखबर हो गए हैं। बात यही नहीं है हमसे बिना पूछे जब इन्होंने हमारी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से लगे निजी कॉलोनी गोकुलधाम को अवैधानिक तरीके से हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के  मुख्य गेट से ही सीधे आने – जाने का रास्ता दे दिया जो कि पूर्णत: गलत है। ऐसे में हम अगर मन्दिर बना लिए तो क्या गलत किया। गोकुलधाम कालू नजर से पूछना चाहिए कि उन्हें यह रास्ता किसने दिया?

अपर कलेक्टर सीमा पात्र ने गोकुलधाम कॉलोनाइजर को लगाई फटकार और 7 दिन के भीतर HB कॉलोनी की सड़क उपयोग करने संबंधित दस्तावेज की मांग की :

मामला संभालने आये प्रशासनिक टीम में अपर कलेक्टर सीमा पात्रे ने बताया कि गोकुल धाम के कॉलोनाइजर को फटकार लगाकर एक सप्ताह के भीतर हाउसिंग बोर्ड कालोनी की सड़क के उपयोग सम्बन्धित दस्तावेज मांगे है जिसे न देने और विधीवत कारवाही की बात कही है।
खबर है कि विवाद निपटाने के लिए प्रशासन की तरफ से सीमा पात्रे अपर कलेक्टर, विक्रम राठौर नायब तहसीलदार, आर.आई. और सिटी कोतवाली थाना से  एस. आई. सहित पुलिस बल को मौके पर आना पड़ा।

देखें वीडियो तहसीलदार (अपर कलेक्टर ) ने क्या कहा ?