रायगढ़/ अटल विहार कॉलोनी में प्रशासन द्वारा पुनः मन्दिर हटाए जाने पर मचा बवाल.. विधायक प्रकाश के हस्तक्षेप से अधिकारियों और कॉलोनीवासियों के मध्य आपसी समझौते से हुआ मंदिर विवाद का सुखद पटाक्षेप ! कॉलोनी में प्रकाश नायक के कारण हर्ष व्याप्त.. सभी ने विधायक का किया आभार व्यक्त.. देखें वीडियो..!


रायगढ 10 अक्टूबर। आम तौर पर शांत कहे जाने वाले रायगढ़ शहर में बहुत कम ऐसे मामले सामने आते है,जब भीड़ में नाराज लोग अपनी बातों को लेकर अड़ जाते है,और पुलिस-प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ता है। हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासियों ने मंदिर निर्माण परिसर पर किया था। जिसको लेकर हाउसिंग बोर्ड और कॉलोनी निवासियों में वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। रायगढ़ विधायक की मध्यस्थता पर आज इस विवाद का सुखद पटाक्षेप हो गया है।

विदित हो की कॉलोनीवासी जिस स्थान पर सामूहिक मन्दिर बना रहे थे वह जगह हाउसिंग बोर्ड की व्यवसायिक भूमि है। इसे उन्होंने बोर्ड से नहीं खरीदा है। मन्दिर बनाने के पहले भूमि खरीदने का आवेदन करना था। इधर गृह निर्माण मंडल के आरोप से बिफरे कॉलोनी वासियों ने कहा कि बोर्ड ने उनसे पूरी रकम लेकर आधी-अधूरी व्यवस्था के सांथ कालोनी का घर हमें बेच तो दिया साथ ही कालोनी की सुविधाओं को लेकर बोर्ड के अधिकारी बेखबर हो गए। यही नहीं हमसे बिना पूछे जब इन्होंने हमारी हाउसिंग बोर्ड की कालोनी से लगे निजी कालोनी गोकुलधाम को अवैधानिक तरीके से सीधे रास्ता दे दिया है जो कि पूर्णत: गलत है।

ऐसे में हम अगर मन्दिर बना लिए तो क्या गलत किया ? हालांकि मामला संभालने आये प्रशासनिक टीम के अपर कलेक्टर ने बताया कि गोकुल धाम के कॉलोनाइजर को फटकार लगाया गया है और हाउसिंग बोर्ड कालोनी की सड़क के उपयोग सम्बन्धित दस्तावेज मांगे है। जिसे न देने पर विधिवत कार्रवाही की बात कही है। विवाद निपटाने के लिए स्थानीय प्रशासन से एसडीएम, अपर कलेक्टर, नायब तहसीलदार,आर आई और सीएसपी सहित भारी पुलिस बल मौके पर तैनात थी।

घटना की जानकारी मिलते ही विधायक प्रकाश नायक पहुँचें कॉलोनी

आपको बता दे की हाउसिंग बोर्ड के अधिकारी कुछ दिन पूर्व भी इस जगह में मंदिर को हटाने के लिए कॉलोनी पहुंचे थे तो वहां के बाशिंदों ने इस पर काफी विरोध किया था। स्थानीय रहवासियों ने इस बात की जानकारी विधायक प्रकाश नायक को उस वक्त भी दी थी तब विधायक प्रकाश नायक ने अधिकारियों से बातचीत करके कहा था कि :

‘मैं अभी बाहर हूं और जब रायगढ़ आऊंगा तो आप लोगों के साथ और कॉलोनीवासियों के साथ एक बैठक कर आपसी सहमति से जो सुखद परिणाम निकलेगा वो करने की कोशिश करूंगातब तक आप लोग कुछ मत कीजिये।”

लेकिन विधायक की गैरमौजूदगी में आज अचानक हाउसिंग बोर्ड के अधिकारी कुछ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कॉलोनी पहुंच गए और मंदिर को तोड़ने व हटाने की बात करने लगे।

जब विधायक हुए नाराज

मंदिर हटाने आये अधिकारियों की सूचना जब स्थानीय रहवासियों ने विधायक प्रकाश नायक को दी (चूंकि विधायक कल रायगढ़ वापस आ चुके थे) तो वे सभापति जयंत ठेठवार व विधायक प्रतिनिधि राजेश भारद्वाज के साथ अटल विहार कॉलोनी पहुंचे और अधिकारियों से बातचीत किया।

विधायक प्रकाश नायक ने अधिकारियों को कहा था कि वह जब वापस आएंगे तब कॉलोनीवासियों के साथ बैठकर सुखद परिणाम के लिए प्रयास करेंगे इस बात को अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया और आज मंदिर हटाने के लिए पहुंच गए जिससे एक विधायक प्रकाश काफी नाराज दिखे।

प्रशासनिक अधिकारियों से विधायक ने दो टूक कहा, मंदिर तोड़ने या हटाने की बात करेंगे तो यह संभव नहीं है मैं यह नहीं होने दूंगा..आपसी समझौते से काम होगा

विधायक प्रकाश नायक ने प्रशासनिक अधिकारियों को दो टूक कह दिया कि मंदिर को तोड़ने या हटाने की की बात यदि आप करेंगे तो मैं मंदिर हटने नहीं दूंगा और ना ही तोड़ने दूंगा ये आस्था का विषय है। जब मैंने आप लोगों को कहा था कि मैं वापस आऊंगा तब कॉलोनी वासियों के साथ आप लोगों का समझौता करा दूंगा तो आप लोग मेरी बात क्यों नहीं सुने और यूं अचानक से कॉलोनी आकर आप लोगों के द्वारा मंदिर हटाना किसी भी स्थिति में सही नहीं है। आप लोग कॉलोनीवासियों के सहमति के बिना यह मंदिर नहीं तोड़ सकते और ना ही हटा सकते हैं। मंदिर तभी हटेगा जब कॉलोनीवासियों से आप समझौता होगा बिना उनकी सहमति या इच्छा के आप मंदिर नहीं हटा सकते।

प्रकाश नायक ने सूत्रधार की भूमिका निभाते हुए कॉलोनीवासियों के इच्छा अनुसार मंदिर निर्माण के लिए दिलाई जगह

विधायक प्रकाश नायक के नाराजगी भरे तेवर देख अधिकारी भी बैठक में नजर आए और कॉलोनीवासियों ने भी विधायक प्रकाश नायक की बात पर गौर करते हुए आपसी समझौते की बात कही।

विधायक, सभापति जयंत, विधायक प्रतिनिधि राजेश भारद्वाज सभी ने कॉलोनीवासियों और प्रशासनिक अधिकारियों की बात को सुने और मध्यस्था का रास्ता निकाला। कॉलोनीवासीयों और प्रशासनिक अधिकारीयों दोनों पक्षों की बातचीत में सूत्रधार रहे विधायक प्रकाश नायक ने दोनों पक्षों की बात को समझते हुए इस गंभीर मुद्दे का समाधान निकाला जिसे समझते हुए प्रशासनिक अधिकारियों ने कॉलोनी में ही मंदिर बनाने के लिए तीन जगह दिखाए जिसमें से एक स्थान को कॉलोनीवासियों ने सर्वसम्मति से निर्माण के लिए अपनी सहमति प्रदान कर दी है और वहां मंदिर निर्माण के लिए प्रशासन को भी किसी प्रकार की अब कोई दिक्कत नहीं है।

प्रकाश नायक के प्रयास से कॉलोनी में बनेगा मंदिर, मन्दिर का विवाद हुआ समाप्त.. कॉलोनीवासियों में हर्ष का माहौल

रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक ने जिस प्रकार से कॉलोनीवासियों के साथ खड़े होकर मंदिर को नहीं तोड़ने दिया और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बातचीत करके कॉलोनीवासियों के इच्छा अनुसार उचित जगह में मंदिर निर्माण के लिए जगह दिलाई है इस विषय की चर्चा खूब हो रही है। मंदिर विवाद के सुखद पटाक्षेप के सूत्रधार रहे विधायक प्रकाश नायक समेत सभापति जयंत ठेठवार व राजेश भारद्वाज का समस्त रहवासियों ने आभार व्यक्त किया है।

विधायक प्रकाश नायक के कारण अटल बिहार में अब बिना किसी विवाद के मंदिर का निर्माण होगा इस कारण पूरे कॉलोनी में विधायक प्रकाश नायक के कारण हर्ष का माहौल व्याप्त है।