रायगढ/ 15 दिन में 5% गिरी कोरोना संक्रमण की दर, लेकिन मौत की रफ्तार तेज..! पढ़िए पूरी ख़बर..!


रायगढ़। जिले में कोरोना का कहर जारी है। मरीजों कम हुई हैं क्योंकि जांच कराने वालों की संख्या भी घटी है। लक्षण छिपाने के कारण संक्रमण की गंभीरता बढ़ रही है। जिले में अब तक कोरोना से 198 लोग जान गंवा चुके हैं। राहत की बात यह है कि 29 अक्टूबर से 5 नवंबर तक जहां संक्रमण की दर 14 प्रतिशत तक थी।

वहीं 9 से 15 नवंबर तक हुई जांच के मुताबिक पॉजिटिविटी रेट घटकर 9 फीसदी तक गिरा है। 15 दिन में 5 प्रतिशत की गिरावट आई है। सोमवार को जिले में 120 मरीज मिले हैं। सारंगढ़ और रायगढ़ में ऐसे भी मामले सामने आए हैं जिनमें लक्षण दिखने पर डॉक्टर्स की सलाह के बाद भी लोग जांच नहीं करा रहे हैं। 9 से 15 नवंबर तक 10 हजार 371 लोगों की जांच की गई जिसमें 949 लोग पॉजिटिव आए हैं। इस दौरान संक्रमण की दर लगभग 9 प्रतिशत रही। 29 अक्टूबर से 4 नवंबर तक जिले में संक्रमण की दर 14 और शहर में 20 प्रतिशत रही। मतलब लगभग 15 दिन में संक्रमण की दर पांच प्रतिशत तक कम हुई है । जिले में कोरोना के कुल मामले 16 हजार 545 हैं। अभी 1903 एक्टिव मरीज हैं। 19 प्रभारी डॉ वेद प्रकाश घिल्ले ने बताया कि अब त्योहारों के बाद पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ सकती है। मास्क का उपयोग नहीं किया, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हुआ, भीड़ अधिक है।

लोग सैंपल देने से कतरा रहे हैं
“कई जगहों में लोग सैंपल नहीं देने की बात पर अड़े हुए है। इसकी वजह से हम कोई अभियान भी नहीं चला सकते हैं। हालांकि संक्रमण एक बार फैल चुका है, यह अभी भी है। लोगों ने त्योहारों के समय में लोगों लापरवाही बरती है, इसकी वजह से खतरा बढ़ सकता है। अलर्ट रहना जरूरी है। ठंड की वजह से वायरस नहीं बढ़ सकती है।”
-डॉ एसएन केशरी, सीएमएचओ