रायगढ़ / होम आइसोलेट मरीजों का फीडबैक : इलाज के मामले में प्रदेश में दूसरी रैंक, जिले में अच्छी है व्यवस्था..!

रायगढ़ । होम आइसोलेटेड कोरोना संक्रमित मरीजों की देखभाल में रायगढ़ जिले की व्यवस्थाओं को पूरे प्रदेश में दूसरी रेटिंग मिली है। मरीजों से मिले फीडबैक के आधार पर यह रैंकिंग तैयार की गई है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 19 से 23 अक्टूबर तक राज्य स्तरीय टेलिफोनिक सर्वे करवाया गया। जिसमें कोविड गाइडलाइन्स के अनुसार जिले में की गई व्यवस्थाओं के संबंध में 11 बिंदुओं पर जानकारी सीधे मरीजों से ली गई। 88 प्रतिशत के स्कोर के साथ रायगढ़ दूसरे पायदान पर है। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की देखभाल के लिए एक पूरा सेटअप तैयार किया गया। टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद मरीज को होम आइसोलेशन उपलब्ध करवाने का पूरा काम व्यवस्थित तरीके से किया जाता है। तीन अलग-अलग टीम लगाई गई है।

रोजाना डबल फॉलोअप..!

होम आइसोलेशन के मरीजों के डबल फॉलोअप की व्यवस्था बनाई गई है। पहला होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को एक डॉक्टर अलॉट किया जाता है। जो नियमित कॉल कर उनकी स्वास्थ्य के अपडेट लेता है। इसके अलावा होम आइसोलेशन सेल से नियमित फॉलोअप किया जाता है। ऑक्सीजन सेचुरेशन, टेंपरेचर रीडिंग की जानकारी ली जाती है।

कलेक्टर भीम सिंह ने संभाल रखी है कमान..!

कलेक्टर ने कोरोना की चुनौती से निपटने के लिए जिले में आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था के लिए कमान खुद संभाल रखी है। निजी चिकित्सकों के साथ हेल्थ अफसरों की हर हफ्ते बैठक होती है, जिसमें कोरोना मामले की समीक्षा होती है। संक्रमण की स्थिति, टेस्टिंग, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर विकास तथा मैन पावर के साथ तमाम जरूरी बिंदुओं पर फीडबैक लेकर आगे की रणनीति तैयार कर उस पर अमल करने की रुपरेखा तैयार की जाती है।