रायगढ़ / दिनभर उमस ने किया परेशान.. शाम काे बारिश हुई तो आधे शहर की बिजली गुल.. दिनभर कभी आसमान में सूर्य तो कभी बदली नजर आई.. बारिश से बीमारी का खतरा बढ़ा..!


रायगढ़ / दक्षिण पूर्व से आ रही नमीयुक्त गर्म हवा के प्रभाव से शुक्रवार को काले बादल छाए और देर रात तक रूक-रूककर बारिश होती रही। इससे दिनभर गर्मी से लोगों को राहत मिली। मौसम विज्ञान केंद्र के विशेषज्ञों के अनुसार अगले 24 घंटे में हवा की दिशा बदलते ही तापमान में तेजी से गिरावट आने के आसार है। शुक्रवार को दिनभर आसमान पर कभी सूर्य तो कभी बादल नजर आए। दिन में अधिकतम तापमान 32 डिग्री तो रात में न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। इससे दिनभर लोग उमसभरी गर्मी से परेशान रहे। शाम 5.30 बजे अचानक काले बादल छाए और बारिश होने लगी। बेमौसम बारिश से कई स्थानों पर पेड़ के डंगाल गिरे और आधा शहर की बिजली गुल हो गई । डेढ़ से तीन घंटे की मशक्कत के बाद ही कुछ इलाकों में दोबारा बिजली आई। बीते साल लगातार बने वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण नंवबर और दिसंबर में भी दो से तीन बार पानी गिरा था। अगले 24 घंटे ऐसा ही मौसम रहेगा।

बेमौसम बारिश का असर..!

फसल – विशेषज्ञ डॉ. एके सिंह के अनुसार बारिश से धान की खेती करने वाले किसानों को नुकसान हो सकता है। वर्तमान में धान कटाई हो चुकी है। कुछ किसानों ने धान काटकर खेतों में छोड़ दिया है। बारिश में भींगने से उनके खराब होने की आशंका है। जिन किसानों ने रबी फसल में धान की बुआई कर ली है, उन्हें इसका लाभ मिल सकता है।

स्वास्थ्य – डॉ. वेद प्रकाश घिल्ले के अनुसार मौसम से वायरल और सर्दी खांसी के संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौसम को देखते हुए इन दिनों लोगों को नियमित गर्म पानी का पीने व बाहर के तले भूने जैसे खाद्य उत्पादों से दूर रहने को कहा जा रहा है। बच्चों और बुजुर्गों के स्वास्थ्य की नियमित जांच और देखभाल करने की सलाह भी दे रहे हैं।

बिजली व्यवस्था – लोचन नगर, अतरमुड़ा, रोज गार्डन और टीवी टावर क्षेत्र में पेड़ की डंगाल गिरने से बिजली व्यवस्था प्रभावित हुई। बारिश से ट्रांसफार्मर के इंसुलेटर भी भ्रष्ट हो गए। इससे क्षेत्र की गरीब ढ़ाई घंटे लाइट गुल रही। नीलांचल भवन, पुलिस लाइन क्षेत्र में करीब डेढ़ घंटे बिजली गुल रही।

सात साल में पहली बार न्यूनतम तापमान 26 डिग्री..!

पहली बार नवंबर माह में न्यूनतम पारा 26 डिग्री दर्ज किया गया है। महीने के पहले सप्ताह में तापमान घटने के बाद अचानक बढ़ोतरी होने से इसका असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ा है। शुक्रवार को बारिश होने से मरीजों की संख्या और बढ़ सकती है। मौसम विशेषज्ञ डॉ एचपी चन्द्रा ने बताया कि जम्मू कश्मीर के ऊपरी भाग से पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने की वजह से प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश हुई है। शनिवार को मौसम साफ होने के आसार है।

24 घंटे बाद बढ़ेगी ठंड..!

“हवा की दिशा बदलने के कारण नमीयुक्त गर्म हवा आ रही है। वातावरण में हल्की सर्द हवा भी है। शरद गरम के मैकेनिज्म से बादल तेजी से बन रहे हैं। इनके प्रभाव से अगले 24 घंटे तक तापमान बहुत ज्यादा परिवर्तन नहीं होंगे, लेकिन इसके बाद तापमान डेढ़ से दो डिग्री तक गिरेगा।”
-डॉ. एचपी चंद्रा, मौसम विशेषज्ञ रायपुर