रायगढ़ / जनपद पंचायत धरमजयगढ के ग्राम पंचायत पुसल्दा के ग्रामवासी सचिव से हैं परेशान.. ग्रामीणों को नहीं मिल रही मुलभूत सुविधा…!


रायगढ़ । जिले की धरमजयगढ़ विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत पुसल्दा के लोग सरपंच औऱ सचिव की कार्यप्रणाली से परेशान हैं।

ग्रामीणों का आरोप है कि न तो सचिव और सरपंच ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं की जानकारी नहीं देते है। औऱ ना ही शासकीय योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को मिल पा रहा है। ये दोनों अपने चहेतों को छोड़कर अन्य लोगों को सिर्फ गुमराह कर रहे हैं।

पंचायत में रोजगार नहीं मिलने से कई युवा बड़े शहरों में मजदूरी करने निकल जाते है। राशनकार्ड, जन्म प्रमाणपत्र, वृद्धा पेंशन आदि के लिए ग्रामीणों को या तो आवभगत की मांग की जाती है या फिर इन समस्याओं से जूझने लाचारी का सामना करना पड़ता हैं।

और इस ग्राम पंचायत के हालात ऐसे है कि पंचायत के गांव में जगह जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। वहीं गंदगी और कोरोना संक्रमण के बीच ग्रामीण परेशान देखे जा रहे हैं, जबकि कोरोना काल के दौरान सरकार से मास्क, सेनेटाइजर और साबुन के नाम बढाचड़ाकर फर्जी बिल पेश कर रुपयों की हेराफेरी कर दी गई जबकि पंचायतवासियों की माने तो एक परिवार में एक मास्क यह कहकर दिया गया की बहुत कीमती मास्क है। इस तरह का सिलवाकर बनवा लेना सरकार का दिया गया यह मास्क डेमो मात्र है।

ऐसे में त्रस्त ग्रामीणों ने सरपंच-सचिव की हरकतों को आम जनता के सामने लाने तथा इन दोनों द्वारा किये जा रहे कारनामो को बहुत जल्द जिले के उच्चाधिकारियों को अवगत करा कर इन्हें हटाने की मांग करंगे।

बताना होगा कि उक्त पंचायत धरमजयगढ़ मुख्यालय से काफी दूर है और यही कारण है कि सम्बंधित विभाग के अधिकारी इनकी मनमानी के बदले अपनी जेबें भरकर योजनाओं को फाइलों में ही लीपापोती कर रहे हैं ।