रायगढ़ के औद्योगिक जिला होने का लाभ मिले आईटीआई छात्रों को-कलेक्टर भीम सिंह


आईटीआई के निरीक्षण में पहुंचे कलेक्टर श्री सिंह ने पास आऊट छात्रों के लिये प्लेटसमेंट कैम्प लगाने के दिए निर्देश

रायगढ़, 4 नवम्बर 2020/ कलेक्टर भीम सिंह बोईरदादर स्थित आईटीआई संस्थानों के निरीक्षण में पहुंचे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि रायगढ़ प्रदेश का एक प्रमुख औद्योगिक जिला है। जिससे यहां रोजगार के भी काफी मौके उपलब्ध है। इसका लाभ आईटीआई के छात्रों को मिलना चाहिये। इसके लिये यहां के उद्योगों में काम के लिये जरूरी तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकतानुसार कोर्सेस आईटीआई में प्रारंभ करवायें। उन्होंने इस सत्र पास आऊट होने वाले छात्रों के लिये प्लेसमेंट कैंप लगाने के निर्देश भी दिये। आईटीआई में अप्रेंन्टिशिप के लिये इंडस्ट्री पार्टनर के लिये उद्योगों से समन्वय करने के लिये कहा। जिससे छात्रों को कोर्स के दौरान ही इंडस्ट्री में काम करने का मौका मिल सके।

कलेक्टर सिंह ने महिला व पुरूष आईटीआई में करवाये जा रहे कोर्सेस व वहां से पूर्व में निकले छात्रों प्लेसमेंट की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिन टे्रड के लिये मान्यता नहीं मिली है और उन्हें प्रारंभ करना है उसके लिये मान्यता की प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ाइये। उन्होंने आईटीआई कोर्सेस के लैब एवं वर्क शॉप में उपलब्ध मशीनों और छात्रों की दी जाने वाली टे्रनिंग के बारे में स्टॉफ से विस्तार से जानकारी ली।
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि आईटीआई के कोर्सेस में थ्योरी से ज्यादा लैब में प्रैक्टिकल बहुत जरूरी है। इसके लिये जिन स्टुडेंट्स को प्रेक्टिकल करना है उनको बुलाकर कोविड प्रोटोकाल के साथ प्रेक्टिकल टे्रनिंग दें। इसके लिये स्टुडेन्ट को बैचेस या शिफ्ट में बांट सकते है। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग व सेनेटाईजेशन का पूरा ध्यान रखा जाये।

कलेक्टर सिंह ने अपने निरीक्षण के दौरान उन्होंने आईटीआई भवनों और प्रयोगशालाओं का निरीक्षण किया। वहां गंदगी दिखाई देने पर उन्होंने गहरी नाराजगी जताई। आईटीआई प्रिसिंपल और स्टॉफ को अगले तीन दिन में कमरे और बरामदों और लैब की पूरी साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिये। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी व आईटीआई कालेज के स्टॉफ मौजूद थे।