बुजुर्गो की देखरेख हम सब की सामाजिक जिम्मेदारी – एसपी रायगढ़


वृद्धाश्रम में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुये एसपी, बुजुर्गों को बताये उनके कानूनी अधिकार

थाना, चौकी प्रभारीगण द्वारा वृद्धजनों की बैठकें लेकर सुनी जा रही है उनकी समस्याएं

रायगढ़ 26 अक्टूबर। जिले में चलाए जा रहे समर्पण अभियान की रूपरेखा पर कल विस्तृत चर्चा के बाद आज थाना चक्रधरनगर अन्तर्गत पहाड़ मंदिर के पास स्थित वृद्धाश्रम में सीनियर सिटीजन सेल रायगढ़ द्वारा बुजुर्गों की समस्याओं से रूबरू होने एवं हेल्थ चेकअप के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया था । कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक रायगढ़ संतोष कुमार सिंह विशेष रुप से वृद्धाश्रम में रह रहे वृद्धजनों की समस्याएं सुनने उनसे चर्चा करने उपस्थित थे । इसके पूर्व भी वे इसी वृद्धाश्रम में वे वृद्धजनों से मुखातिब हुए थे । 
  

आज कार्यक्रम दौरान बताये कि पुलिस विभाग हमेशा जनभागीदारी के कार्यों में संलग्न रहती है । हमारा विभाग यह चाहता है कि समाज में कहीं कोई उपेक्षित ना रहे, सभी को सामाजिक सम्मान एवं कानूनी मदद मिले । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी द्वारा पुलिस विभाग के माध्यम से समर्पण अभियान की शुरूवात 5 जिलों से की जा रही है । इसके तहत जिला पुलिस रायगढ़ को उन 5 जिलों के साथ जिले में बुजुर्गों के कल्याण, सम्मान के लिए विशेष कुछ करने का मौका मिला है । वे समर्पण अभियान के तहत जिले में आगे की कार्य योजना पर उपस्थित लोगों से संक्षिप्त चर्चा कर बताए कि जिला पुलिस सीनियर सिटीजन तथा ऐसे असहाय वृद्धजन जो अपने आप को उपेक्षित या असहाय समझते हैं उनका पंजीयन सीनियर सिटीजन सेल में कराएगी, जिन्हें  कानूनी सहायता की आवश्यकता है, उन्हें कानूनी सहायता प्रदाय की जावेगी । वे आगे बताये कि हमारे आसपास कई बुजुर्ग, सीनियर सिटीजन ऐसे हैं जिनके अपने ही उन्हें उपेक्षित करते हैं परंतु ज्यादातर मामलों में बुजुर्ग ही अपनों की शिकायतें करने थाने नहीं आते हैं ।

ऐसे उपेक्षित एवं असहाय वृद्धजनों तक अब पुलिस पहुंचेगी । बुजुगों के लिये मेंटेनेंस एंड वेलफेयर आफ पैरंट्स एंड सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 गया है जो वर्ष 2008 से प्रभावशील है । जिसके अनुसार अपने माता-पिता, बुजुर्गों की देखभाल नहीं करने वालों को जेल तक भेजने का प्रावधान है । वृद्धजन ऐसे मामलों में भरणपोषण के लिये मासिक खर्च की मांग कर सकते हैं । ऐसे मामले अगर हमारे पास आते हैं तो उनकी हर प्रकार से मदद की जावेगी । इस अभियान के तहत सदस्यता अभियान चला कर जिला पुलिस अति असहाय, जरूरतमंदों का पंजीयन कराकर उनकी समस्याएं निपटायेगी और उनका निराकरण हुआ है या नहीं उस पर फालोअप करेगी और वृद्धजनों के लिये कार्य कर रहे समाज कल्यासण विभाग, NGO के साथ मिलकर वृद्धजनों को हर प्रकार की मदद मुहैया करायेगी ।

आज कार्यक्रम दौरान एसपी रायगढ़ द्वारा अपने हाथों से प्रथम सदस्यता पंजीयन प्रपत्र एक वृद्ध का भरे । इसके साथ ही इस अभियान की शुरुआत इस जिले में हो चुकी है अब थाना प्रभारीगण द्वारा अपने अपने क्षेत्र में इस प्रक्रिया को विस्तारपूर्वक आगे बढ़ाएंगे। इस अभियान दौरान जिन तक पुलिस पहुंच नहीं पा रही है वे अपना रजिस्ट्रेशन पुलिस कार्यालय संबंधित थाने, चौकी में सीनियर सिटीजन प्रपत्र भरकर जमा कर सकते हैं अथवा सीनियर सिटीजन के ईमेल, हेल्पलाइन नंबर में कांटेक्ट कर कर सकते हैं । उन्होंने वृद्धजनों की उपेक्षा को सामाजिक बुराई बताते हुए बुजुर्गों की देखभाल करना हम सब की सामाजिक जिम्मेदारी है बताएं । वृद्धाश्रम में  वृद्धजनों से चर्चा दौरान पुन: बोले कि यदि कोई अपने घर जाना चाहता है, उनके अपने उन्हें रखना नहीं चाहते तो ऐसे  प्रकरणों पर गंभीरता से कार्यवाही की जावेगी, इसके लिए ही आज हम सब उपस्थित हुए हैं । उन्होंने वहां उपस्थित सभी वृद्धजनों से एक-एक कर चर्चा किए । कुछेक वृद्धजनों द्वारा उनके रिस्तेदारों द्वारा उपेक्षित करने की शिकायतों को पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में लाया गया जिस पर उचित कार्यवाही कराना उनके द्वारा बताया गया  । कार्यक्रम में वृद्धजनों ने डॉ प्रभात पटेल, नेत्र चिकित्सक से परामर्श लिए तथा आयुर्वेद डॉक्टर धर्मेंद्र शर्मा द्वारा कोरोना काल में सैनिटाइजर की जगह आयुर्वेद निर्मित साबुन की विशेषता बताई गई ।

इस साबुन, मास्क व बिस्किट का वितरण वृद्धजनों में किया गया ।  कार्यक्रम में सीनियर सिटीजन सेल के जिला नोडल अधिकारी पुष्पेन्द्र बघेल उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायगढ़, समाज कल्याण विभाग के श्री जांगड़े, एनजीओ उम्मीद फाउंडेशन, लायंस क्लब महिला समिति की अध्यक्ष एवं प्रमुख सदस्यगण, सीनियर सिटीजन सेल के प्रधान आरक्षक संदीप गायकवाड, आरक्षक प्रभात प्रधान तथा थाना प्रभारी चक्रधरनगर निरीक्षक अभिनवकांत सिंह अपने स्टाफ के साथ उपस्थित थे ।