पंप कमजोर हैं, 60% ही भर रही हैं टंकियां, घरों में नहीं पहुंच रहा पानी.. निगम ने 250 एचपी का पंप खरीदा पर डेढ़ महीने बाद लगेगा..!


रायगढ़ / नगर निगम की टंकी में पानी नहीं भर पाने की वजह से घरों में पानी नहीं पहुंच पा रहा है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है। त्योहार के पहले जहां लोगों को ज्यादा पानी की जरूरत पड़ रही है वहीं निगम औसत से भी कम सप्लाई कर रहा है।

दरअसल पानी की टंकियों को भरने के लिए जिस क्षमता के पंप चाहिए, निगम के पास वह नहीं है। अगले डेढ़ माह तक यह परेशानी बनी रहेगी। शहर में जल आवर्धन योजना के तहत राजीव नगर, गौशाला पारा, सर्किट हाउस, राजापारा, चक्रधर नगर जैसे इलाको में ओवरहेड टैंक हैं। इसमें 60 फीसदी पानी भर पाता है। इन टंकियों में सर्किट हाउस के पास और राजा पारा स्थित फिल्टर प्लांट ( क्षमता 20 लाख लीटर पानी) दोनों जगहों से पानी की सप्लाई होती है। गौशालापारा, बैकुंठपुर, बापू नगर, इतवारी बाजार और नया गंज जैसे इलाकों से पानी की सप्लाई बढ़ाने की मांग की है। इन इलाकों में वार्डों के बोर से पानी की सप्लाई करने के लिए कहा जा रहा है।

नदी से घर तक ऐसे पहुंचता है पानी..!

केलो नदी के इंटेकवेल से पानी फिल्टर प्लांट में आता है। फिल्ट्रेशन के बाद पानी स्टोर होता है। फिल्टर प्लांट पंप हाउस से पाइप के जरिए पानी टंकियों में भेजा जाता है। इसके बाद यहां से पानी की सप्लाई घरों तक होती है। शहर के दोनों फिल्टर प्लांट में 100-100 एचपी के पंप लगे हुए हैं। दो-दो पंप बारी-बारी से चलते हैं। जबकि अब सप्लाई को देखते हुए ज्यादा क्षमता वाले पंप चाहिए। अब निगम 250 एचपी वाले पंप लगाने की तैयारी कर रहा है।

शहर में इतनी होती है पानी की खपत..!

० शहर में 26 हजार कनेक्शन

० रोजाना खपत दो करोड़ 60 लाख लीटर

० सर्किट हाउस फिल्टर प्लांट- एक लाख 70 हजार लीटर

० राजापारा फिल्टर प्लांट- 90 लाख लीटर

० बाकी सप्लाई वार्डों में बोर से किया जाता है

सप्लाई ठीक करने ध्यान दिया जा रहा है..!

“मेडिकल कॉलेज को 2 लाख लीटर पानी दिया जा रहा है, इसके लिए क्षमता बढ़ाने के लिए 250 एचपी का पंप कुछ समय पहले खरीदा गया था उसे लगाने के लिए अब डीएमएफ से 10 लाख रुपए मिले हैं। पानी सप्लाई ठीक हो इस पर ध्यान दिया जा रहा है।”

-आशुतोष पाण्डेय, आयुक्त, नगर निगम

पंप जल्द लगाया जाएगा..!

“पंप लगाने के लिए हमने टेंडर जारी किया है। जहां दिक्कत आ रही है उससे समस्या दूर हो जाएगी। अभी कुछ जगहों में फाल्ट आने की वजह से थोड़ी परेशानी आई थी। अमृत मिशन पूरी तरह शुरू होने के बाद ये दिक्कतें नहीं रहेंगी। त्योहारों में परेशानी ना हो इसलिए वार्डों के बोर को एक-डेढ़ घंटे ज्यादा चलाए जाने के निर्देश दिए जाएंगे, यदि कोई दिक्कत आती है तो तुरंत ठीक किया जाएगा।”

-जानकी कॉटजू, मेयर, रायगढ़