नाबालिग बेटी को 3 हजार रुपए में बेचने का आरोपी ग्रामीण गिरफ्तार..!


रायगढ़ । घरघाेड़ा के एक गांव में रहने वाले कलयुगी पिता ने मानसिक हालात ठीक न हाेने पर अपनी नाबालिग बेटी पड़ाेसी गांव के बाप-बेटे काे बेच दिया था। पुलिस ने इस मामले में पहले ही एक आराेपी काे जेल भेज चुकी है। गुरुवार काे पुलिस ने नाबालिग के पिता काे गिरफ्तार किया है, जिसने 5 हजार में साैदा हाेने और उसे 3 हजार में बेचे जाने का जुर्म कबूल किया है। पुलिस ने उसे रिमांड पर जेल भेज दिया है।

घरघाेड़ा थाना क्षेत्र के अमलीडीह घरघोडा के सरपंच एवं मितानिन ने महिला हेल्प लाइन रायपुर काे देकर एक गर्भवती युवती काे सखी वन स्टॉप सेन्टर रायगढ भिजवाया था। उस समय नाबालिग युवती की मानसिक हालत ठीक नहीं थी। जिसके बाद उसे मुख्य न्यायायिक दण्डाधिकारी रायगढ़ के आदेश पर मानसिक उपचार केन्द्र सेन्द्री बिलासपुर में भर्ती कराया गया। हालात में सुधार हाेने के बाद नाबालिग ने जाे कहानी बयां की उससे सभी के राेंगटे खड़े हाे गए थे। उसने बताया कि उसके पिता दिलेराम राठिया ने उसके घर आने जाने वाले तमनार के पेलमा निवासी दीपक व उसके पिता के साथ उसे भेज दिया था। इसके एवज मे उसके पिता ने दीपक के पिता से रुपए लिए थे। लड़की बेचे जाने की बात सामने आने पर हरकत में आई पुलिस ने मेडिकल जांच रिपाेर्ट और कथन के आधार पर दीपक, उसके पिता, दिलेराम राठिया के खिलाफ अपराध दर्ज किया था।

थाना प्रभारी घरघाेड़ा केके सिह ने बताया कि नाबालिग के कथन पर बेटी काे बेचने वाला पिता फरार चल रहा था। जिसकी तलाश में लगातार दबिश दी जा रही थी। गुरुवार काे पेलमा आया हुआ था, इसी बीच पुलिस ने दबिश देकर उसे गिरफ्तार किया है। पुलिस हिरासत में आने के बाद उसने बताया कि पांच हजार रुपए में बेटी का साैदा दीपक व उसके पिता से किया था। जिस पर उसे तीन हजार रुपए दिए गए थे। उसम समय बेटी की दिमागी हालत ठीक नहीं थी। इस मामले में पुलिस दीपक काे पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। गुरुवार काे पीड़ित के पिता दिलेराम राठिया काे रिमांड पर लेकर जेल भेजा गया।