टीपी की आड़ में हो रही लकड़ी तस्करी : शंकर शॉ मिल सील


रायगढ़, मोहसिन खान। वन अमला रायगढ़ द्वारा लगातार आरा मिल में रूटीन जांच की जा रही थी। जहां पिछले दिनों कई आरामिल में जांच के बाद गड़बड़ी पाए जाने से तीन आरामिल को सील किया गया था। वहीं अब टीपी की आड़ में लकड़ी तस्करी करने वाले लकड़ी टाल पर भी विभाग अपनी नजर जमाने लगी है। जहां आज शंकर सॉ मिल में वन अमला ने दबिश दी और यहां रूटीन जांच के साथ ही पूरी बारीकी से यहां मौजूद लकड़ियों की जांच की। जहां कुछ अनियमितताएं भी सामने आई ऐसे में शंकर सॉ मिल को सील कर मामले को विवेचना में लिया गया है।

इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक डीएफओ मनोज पांडे के निर्देशन व एसडीओ एआर बंजारे के मार्गदर्शन में वन क्षेत्रपाल लीला पटेल द्वारा पूर्व में केआर गुप्ता, आरके फर्नीचर मार्ट सहित कई आरा मिलो में रूटीन जांच की गई और वहां गड़बड़ी पाए जाने पर उन्हें सील कर दिया गया। विभाग की इस कार्रवाई से आरामिल संचालकों के बीच हड़कंप मच गया। वहीं पिछले दिनों पुलिस द्वारा उर्दना रोड पर दो वाहन पकड़ा गया था। जिसमें लकड़ी लोड थी और यहां टीपी के आड़ में अवैध लकड़ी का परिवहन किया जा रहा था। ऐसे में मामले में अपराध दर्ज कर आगे की कार्यवाही की जा रही थी। तो दूसरी तरफ जब वन अमला को महसूस हुआ कि टीपी लेते दौरान जब उसका सत्यापन किया जाता है तो एक नंबर की लकड़ियों को दिखा कर टीपी बनवा लिया जाता है, लेकिन बाद में उसी टीपी के आड़ में अवैध लकड़ियों की तस्करी की जाती है, तो आज वन अमला रायगढ़ द्वारा संजय सॉ मिल में दबिश दी गई। यहां मौजूद लट्ठे वह चिरान की जांच करने के साथ ही दस्तावेजों की भी जांच की गई। तब काफी अनियमितताएं भी यहां देखने को मिली। ऐसे में वन क्षेत्रपाल लीला पटेल व उनकी टीम के द्वारा आगे की कार्रवाई के लिए शंकर सॉ मिल को सील कर मामले को विवेचना में लिया गया है।