ग्रामसभा की मंजूरी नहीं इसलिए खदानों की नीलामी रोकी..! रायगढ़, खरसिया, पुसौर बरमकेला की 21 खदानों नीलामी के लिए एसडीएम कराएंगे ग्रामसभा..!


रायगढ़ । नई रेत खदानों की नीलामी के लिए माइनिंग विभाग पूरी तैयारी कर ली थी,अधिसूचना भी जारी करने वाले थे, लेकिन इससे पहले ही अफसरों की नजर खरसिया अंतर्गत अनुसूचित क्षेत्र के खदानों पर पड़ी। नियम के तहत ग्राम सभा की मंजूरी नहीं होने से फिलहाल नीलामी पर रोक लगा दी गई है। विभाग ने क्षेत्र के सभी खदानों की नीलामी के लिए एसडीएम से ग्राम सभा कराने की मांग की है। जिले में स्वीकृत रेत खदानों की संख्या कम होने के कारण रेत की कीमत ज्यादा है। चोरी-छिपे खनन से रोजाना खनिज विभाग को लाखों रुपए का नुकसान भी हो रहा है। ऐसे में विभाग ने दिवाली से पहले 21 रेत खदानों की नीलामी की तैयारी में जुटा था। विभाग की तरफ से यह तैयारी पूरी हो चुकी है, लेकिन खरसिया क्षेत्र के रेत खदानों के लिए ग्राम सभा की मंजूरी नहीं होने से अधिसूचना जारी नहीं गई। अगले एक सप्ताह के भीतर संबंधित ग्राम पंचायतों में ग्राम सभा आयोजित की जाएगी। ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधि और ग्रामीणों की सहमति के बाद माइनिंग विभाग आगे की प्रक्रिया शुरू करने की बात कह रहा है। विभाग ने इसके लिए खरसिया एसडीएम को भी पत्र लिखा है, ताकि दिवाली से पहले ग्राम सभा आयोजित कर नियम अनुरूप ग्राम सभाओं की सहमति प्राप्त की जा सकें।

अवैध खनन होने सेे राजस्व का नुकसान..!

39 रेत खदानें है, स्वीकृत और नियम अनुरूप खनन की अनुमति सिर्फ 6 खदानों में है पर मांग अधिक होने से रेत तस्कर बिना स्वीकृति रेत की खुदाई कर रहे हैं। तारापुर में नदी के दोनों तरफ पोकलेन से खुदाई की जा रही है। प्रतिदिन यहां से 30 से ज्यादा हाइवा रेत निकाली जा रही है। दूसरे खदानों से भी खनन जारी है, जिससे विभाग को घाटा हो रहा है।

ग्राम सभा के बाद इन रेत खदानों की होगी नीलामी..!

जिन रेत खदानों की नीलामी अभी अटकी है। उसमें उसरौट, सारडामाल, बकोरामुड़ा, तारापुर, भातपुर, दुलोपुर, औराभाठा, ठाकुरपोड़ी, टायंग जैमुरा, डेराडीह, पामगढ़, जबलपुर,रम्सापाली, बरभौना, तेंदूमुड़ी, पिहरा, घुघवा, नवापारा, केसला, डुमरमुड़ा, कांदागढ़ सिंगपुरी, ससकोबा की रेत खदान शामिल है। ग्रामसभा कराने के बाद इनकी नीलामी होगी।

ग्राम सभा कराने के लिए एसडीएम को पत्र लिखा है..!

“अनुसूचित क्षेत्र के खदानों के लिए ग्राम सभा की सहमति जरूरी है। इसलिए अधिसूचना जारी करने से पहले हमने खरसिया एसडीएम को पत्र लिखकर ग्राम सभा कराने की मांग की है। इसके बाद ही नीलामी की प्रक्रिया शुरू करेंगे।”

मीनाक्षी साहू, जिला खनिज अधिकारी रायगढ़