कोरोना रोकथाम में लगी महिला स्वास्थ्य कर्मचारी (मितानिन) पंचों द्वारा प्रताड़ित, कलेक्टर से मांगी मदद


कोरबा (करतला)। कोरोना काल के इस भीषण संकट की घड़ी में जंहा स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी जान पर खेल कर अपना कार्य कर रहे, वही बरपाली ग्राम पंचायत में कुछ ऐसे पंच है जो बजाए सहयोग करने के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित कर रहे है, बीते दिनों बरपाली में एक पंच के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा संपर्क में आये व्यक्तियो को कोरेन्टीन करने के निर्देश दिए, उसमे महिला मितानिन ने उच्च अधिकारियों के निर्देशानुसार ग्राम पंचायत बरपाली के वार्ड क्रमांक 11 के पंच एवम वार्ड क्रमांक 16 के पंच के घर पर भी कोरेन्टीन रहने के निर्देश वाले कागज चिपकाए गए। तब से लेकर अब तक पिछले एक महीने से दोनों पंच लगातार महिला स्वास्थ्य कर्मचारी से गाली गलौच, गांव से निकालने एवम अंजाम भुगतने की धमकी दे रहे है। महिला स्वास्थ्य कर्मचारी आखिर में तंग आकर कलेक्टर तथा उरगा थाना प्रभारी से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है।

कलेक्टर को दिया गया आवेदन पत्र का पावती

देखना ये है कि एक महिला कलेक्टर के रहते हुए एक महिला स्वास्थ्य कर्मचारी के साथ हुए ऐसे प्रताड़ना के मामले में कितना कठोर निर्णय होता है। जंहा अभी सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा दिन रात एक कर लोगों की सेवा किया जा रहा है, ऐसे में किसी एक के साथ होने वाली घटना पूरे विभाग का मनोबल गिरा सकती है, बरपाली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमित तथा उनके परिवार वालो के नियम उल्लंघन करने की खबरे लगातार आ रही है। आज की इस घटना से क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की रोकथाम में लगे सभी कर्मचारियों का मनोबल कमजोर हुआ है। महिला स्वास्थ्य कर्मचारी ने जल्द से जल्द कठोर कार्यवाही करने का आग्रह किया है।