हैवानियत की हद पार..अपनी लाज बचाती हुई मासूम को दरिंदे युवक ने केरोसिन डाल जिंदा जला डाला..!


मुंगेली, 03 जुलाई। देश में कोरोना वायरस के संकट काल के समय हत्या और दुष्कर्म जैसे वारदातों में कमी पाई गई है लेकिन छत्तीसगढ़ में इसके विपरीत हर 2 से 3 दिन में एक ऐसा मामला सामने आ रहा है की किसी मासूम का रेप करने की कोशिश किया जा रहा है तो किसी की हत्या की की जा रही है। ऐसे ही हृदय विदारक घटना की जानकारी मिल रही है मुंगेली जिला के ग्रामीण इलाके में 14 साल की मासूम बच्ची के साथ वहशी युवक ने रेप करने की कोशिश की और जब रेप करने में असफल रहा था तो उसने मासूम बच्ची के ऊपर केरोसिन डालकर आग लगा दिया।

बताया जा रहा है कि मुंगेली जिले के ग्रामीण ईलाके से बीते बुधवार को एक 14 वर्षीय मासूम अपने घर में अकेली थी, उसके परिजन किसी काम से बाहर गए थे, तभी एक मवाली किस्म का युवक जो शुरु से मौके की ताक में था, और मौका मिलते ही मासूम को घर में अकेले देख घुस गया और बच्ची के साथ बलात दुष्कर्म करने का प्रयास करने लगा। विरोध स्वरूप अपने आप को बचाने के लिए मासूम चीखती रही, चिल्लाती रही, और अपनी पूरी ताकत से नाबालिग ने पुरजोर विरोध करते रही। नाबालिक के विरोध से बौखलाए आरोपी युवक जब अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं हो सका, तो वह गुस्से से आगबबूला हो गया और केरोसिन छिड़क कर मासूम बच्ची को जिंदा जला डाला।

आग की लपटों से जलते हुए मासूम बच्ची चीखते चिल्लाते हुए। जब अपने घर से बाहर निकली तो आसपास के लोगों ने बड़ी मेहनत से जैसे तैसे आग को बुझाया, और संजीवनी वाहन से ले जाकर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। 14 वर्षीय मासूम जिसने अपने आत्मा पर लगे गहरे चोट तथा आग से झूलसे हुए शरीर के साथ जिंदगी और मौत से लड़ती रही और अन्तः असफल होते हुए मासूम ने अपना दम तोड़ दिया। इस अमानवीय कुकृत्य की जानकारी पुलिस प्रशासन को मिलते ही पुलिस ने तत्काल एक्शन लिया। और आरोपी बबलू भास्कर को गिरफ्तार करते हुए धारा 354, 302 व पॉक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया जा रहा है।

जिंदगी और मौत के बीच लड़ते-लड़ते मासूम बच्ची ने दर्ज कराया अपना बयान :

पुलिस ने बताया कि मासूम बच्ची जो अस्पताल में पड़ी अपना ब्यान दे रही थी। जिंदगी और मौत से लड़ते-लड़ते उसने मृत्यु पूर्व अपना बयान दिया था। जिसके आधार पर पुलिस कार्यवाही कर रही है। हृदय विदारक दर्दनाक घटना से क्षेत्र के ग्रामीणों में आक्रोश है। बताया जा रहा है, कि 1 हफ्ते में ही मुंगेली जिला में यह छेड़खानी की चौथी घटना है। इस कारण ग्रामीणों में आक्रोश है।