जांजगीर/ बीटेक पास युवक कर रहा सब्जी व धान की जैविक खेती, सालाना हो रही इतनी आय..!


जांजगीर। एक ओर जहां लोग थोड़ी सी पढ़ाई के बाद खेती से मुंह मोड़ लेते हैं, वहीं ग्राम जर्वे का एक युवक बीटेक पास होने के बाद भी नौकरी के लिए चक्कर काटने के बजाय गांव में खेती कर रहा है। वह साढे़ चार एकड़ जमीन में जैविक पद्धती से खेती कर रहा है। धान के साथ मेड़ पर सब्जी की खेती कर रहा है। युवक की मेहनत से अब उसके खेत में कई तरह की सब्जियों की फसल लहरा रही है। पढ़े लिखे युवा कृषक अमित तिवारी ने बताया कि उसे सालाना इस खेत से चार लाख की आमदनी हो रही है। अभी उसने खेतों में धान के अलावा मेड़ हल्दी की भी खेती की है। इसके अलावा मुनगा, लौकी, टमाटर की खेती भी खलिहान की खाली जमीन में की है।

अमित का कहना है कि खेती में असीम संभावना है, इसलिए वह उद्योगों व कम्पनियों में नौकरी करने के बजाय खुद की जमीन पर खेती करने को बेहतर मानता है। उसने बताया कि वह खेती में रासायनिक खाद का उपयोग बिल्कुल भी नहीं करता। पूरी तरह जैविक खाद का उपयोग कर उसने यह फसल पाई है। इससे पैदावार अच्छी होती है और जमीन की उर्वरा क्षमता भी बनी रहती है।

घर से आकर ले जाते हैं सब्जी

अमित ने बताया कि जिला मुख्यालय से गांव लगा हुआ है। उसके खेत में जैविक खाद से तैयार हो रही सब्जियों की मांग भी शहर के बाजार में बढ़ने लगी है और मार्केटिंग की समस्या नहीं है। सब्जी के व्यापारी गांव आकर सब्जी खरीद लेते हैं। अमित ने बताया कि उनका खेत कृषि महाविद्यालय से लगा हुआ है, लेकिन आज तक शासन से उन्हें कोई मदद या प्रोत्साहन नहीं मिला। इससे उन्हें कोई फर्क भी नहीं पड़ता। मेहनत की फसल को देखकर अंदर से संतुष्टी मिलती है।