छत्तीसगढ़/ सास के सामने चीखती रही बहु ‘मुझे मत मारो’.. पति ने भी नहीं सुनी महिला की मार्मिक पुकार ! हैवान पति और वहशी सास ने मिलकर उसे जिंदा फांसी पर लटका कर उतार दिया मौत के घाट और दुनियां को बताया आत्महत्या.. जानें कैसे हुआ मामले का खुलासा ? पढ़े खबर..!

” मां और बेटे ने मिलकर पहले बहू की बेहोश होते तक बेदम पिटाई की। इसके बाद दोनों ने मिलकर उसे फांसी पर लटका दिया। इधर लोगों को गुमराह करने निष्ठुर पति ने लोगों से झूठ बोला कि उसकी पत्नी ने फांसी लगाकर खुदकुशी ली है।”

भिलाई। जिले में एक हृदय विदारक घटना ने लोगों को झकझोर दिया है। मां और बेटे ने मिलकर पहले बहू की बेहोश होते तक बेदम पिटाई की। इसके बाद दोनों ने मिलकर उसे फांसी पर लटका दिया। इधर लोगों को गुमराह करने निष्ठुर पति ने लोगों से झूठ बोला कि उसकी पत्नी ने फांसी लगाकर खुदकुशी ली है। घटना की सच्चाई जानने के बाद भी दो युवकों ने पुलिस से बचाने में उसकी मदद की। पुलिस ने आरोपी पति खुमान साहू और सास रोहिणी साहू के खिलाफ धारा 302 व 201 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर लिया है। वहीं साक्ष्य छुपाने में मदद करने वाले पुरेन्द्र वर्मा और नवीन चंद्राकर को गिरफ्तार किया है।

दिलदहला देने वाली यह घटना मचांदुर चौकी के ग्राम खोपली की है। उतई थाना प्रभारी सतीश पुरिया ने बताया कि घटना 26 जुलाई रात की है। 27 जुलाई की सुबह 6.30 बजे थाने में मृत महिला के भाई योगेश साहू से बहन की सुसराल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत की सूचना मिली। जिसके बाद घटना स्थल पहुंचकर छानबीन किया गया। उस वक्त महिला का पति खुमान साहू साक्ष्य को छुपाते हुए शव के अंतिम संस्कार की तैयारी में जुटा था। मृतक महिला की आठ साल पूर्व आरोपी से शादी हुई थी। उनकी दो बेटियां भी है।

हत्या की वजह दूसरे से फोन पर बात करना पति को नागवार गुजरा
आरोपी पति खुमान साहू और सास रोहिणी साहू ने पुलिस ने पूछताछ की। आरोपी पति ने पुलिस को बताया कि फ ोन पर उसकी पत्नी लुकेश्वरी साहू (30 वर्ष) किसी अन्य शख्स से बात करती थी जो उसे पसंद नहीं था। इसी बात को लेकर 26 जुलाई को सुबह 11 बजे दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ। तैश में आकर उसने पहले पत्नी की जमकर पिटाई कर दी। फि र रात 8 बजे दोनों के बीच एक बार फि र विवाद हुआ। जिसके बाद पति ने फि र पत्नी की बेहोशी तक बेदम पिटाई कर दी।

मां ने बहू का पैर पकड़ा, पति ने फंदे में डाला सिर
पुलिस ने बताया कि रात को हाथ, चप्पल और पैर से पति और सास ने पिटाई की। जब वह बेहोश हो गई तब पति खोमान साहू ने गमछा से पंखे पर फंदा बनाया। दोनों ने मिलकर जिंदा उसे फांसी के फंदे पर लटका दिया। सास रोहणी साहू ने दोनों पैर को पकड़कर उठाया। पति ने जिंदा लुकेश्वरी को फंदे में डालकर लटका दिया। पत्नी की मौत के बाद वह घबरा गया था।

रोते-रोते महिला ने किया था भाई के पास फोन
मृतक महिला लोकेश्वरी के भाई योगेश ने उतई पुलिस को बताया कि उसकी बहन ने 26 जुलाई को पहले सुबह फि र शाम को फोन पर मारपीट की घटना से अवगत कराया था। बहन ने रोते-रोते बताया था कि उसके साथ पति और सास ने मिलकर जमकर मारपीट की है। वह उसे यहां से ले जाए नहीं तो ये लोग उसे मार डालेंगे। अगली सुबह वह बहन के लेने उसके ससुराल जाने की तैयारी में ही था कि उसकी 5.30 बजे आत्महत्या की खबर आई। जब वहां जाकर देखा तो मौत संदिग्ध लगी और पूरे घटनाक्रम की सूचना उतई थाना प्रभारी सतीश पुरिया को दी।

सास व पति को भेजा जेल, साक्ष्य मिटाने वालों से हो रही पूछताछ
महिला की हत्या के आरोप में पुलिस ने मृतिका के पति, सास को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज दिया है। वहीं प्रकरण में घटना का साक्ष्य छुपाने में सहयोग करने के कारण दो अन्य आरोपी पुरेंद्र वर्मा एवं नवीन चंद्राकर से पुलिस पूछताछ कर रही है। पुरेन्द्र ने पुलिस को बताया कि रात में खुमान को गाड़ी में बैठाकर ले गया। चाकू को नाला में फेंक दिया और फांसी के फंदे को तालाब के पास जला दिया। हत्या के मामले में खुलासा करने में थाना प्रभारी उतई उपनिरीक्षक सतीश पूरिया, चौकी प्रभारी मचांदूर उपनिरीक्षक श्याम सिंह नेताम, उपनिरीक्षक भूपेंद्र ओगरे समेत चौकी मचंदूर और थाना उतई के स्टाफ की सक्रिय भूमिका रही।

Shource Patrika