कलेक्टर भीम सिंह ने किया किरोड़ीमल अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण

कलेक्टर ने अस्पताल परिसर के ओपीडी एवं दवा वितरण केन्द्रों पर शेड बनाने के दिये निर्देश

रायगढ़ 27 जुलाई 2020:- कलेक्टर भीम सिंह ने शहर के किरोड़ीमल अस्पताल जो कि वर्तमान में रायगढ़ मेडिकल कालेज से संबद्ध है का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने ओपीडी और दवा वितरण केन्द्र पर बाहर धूप में मरीजों तथा उनके परिजनों को लाइन में खड़े होने पर अस्पताल अधीक्षक और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को शेड निर्माण करने के निर्देश दिये ताकि बाहर से आने वाले मरीजों को धूप तथा बरसात से बचाव हो सके, उन्होंने अस्पताल के ओपीडी में मरीजों के बैठने के लिए निर्धारित दूरी (सोशल डिस्टेसिंग) का पालन करते हुए पर्याप्त कुर्सियों की व्यवस्था किये जाने हेतु निर्देशित किया।

कलेक्टर सिंह ने अस्पताल के दवा वितरण केन्द्र में मरीजों को उपलब्ध करायी जाने वाली दवाईयों का जायजा लिया और और डॉक्टरों द्वारा सुझाई गई समस्त दवाईयां मरीजों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने रेडक्रास द्वारा संचालित दवाई दुकान का भी अवलोकन किया और जेनेरिक दवाईयां वितरित करने के निर्देश दिये। उन्होंने अस्पताल अधीक्षक डॉ.मोहन कुमार मिंज को निर्देशित किया कि दवा वितरण केन्द्र पर जो दवाईयां उपलब्ध नहीं है उसे रेडक्रास द्वारा संचालित दुकान से प्राप्त कर मरीजों को उपलब्ध करावे।
कलेक्टर सिंह ने अस्पताल के स्त्री रोग विभाग और पुरूष तथा महिला वार्डो का निरीक्षण किया तथा नवजात बच्चों के वार्ड में जाकर वहां का जायजा लिया। उन्होंने मरीजों तथा उनके परिजनों से बात करते हुए अस्पताल में उपलब्ध शौचालय वहां के पानी की उपलब्धता एवं मरीजों को प्रदान किये जाने वाले भोजन उसकी गुणवत्ता के बारे में जानकारी प्राप्त किया। मरीजों के भर्ती वाले वार्ड में खराब तथा फटी बेडशीट को बदलकर साफ-सुथरी बेडशीट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने महिलाओं को प्रसव उपरांत प्रदान की जाने वाली राशि वितरण का ब्योरा लेते हुए प्रसव के लिये रायगढ़ शहर के बाहर से आने वाली महिलाओं और उनके परिजनों को यह जानकारी पहले से बताने को कहा कि प्रसव उपरांत प्राप्त होने वाली निर्धारित राशि प्राप्त करें, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाली महिला और उनके परिजनों को दुबारा न आना पड़े। उन्होंने लंबित भुगतान के विलंब का कारण भी पूछा, कलेक्टर सिंह ने अस्पताल प्रबंधन को जन्म-मृत्यु संबंधी रिकार्ड अद्यतन रखने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने अस्पताल के मरीजों के लिए तैयार होने वाले भोजन के किचन (रसोई घर)का निरीक्षण किया तथा निर्देशित किया कि मरीजों के लिये पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने अस्पताल परिसर का भ्रमण कर साफ-सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखने के निर्देश दिये। अस्पताल परिसर में संचालित सार्वजनिक शौचालय का मुआयना कर निर्धारित स्थानों पर साबुन रखने के लिए भी कहा और अस्पताल परिसर में दो पहिया तथा चार पहिया वाहनों को व्यवस्थित ढंग से निर्धारित पाॢकग स्थल पर रखे जाने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान अस्पताल अधीक्षक डॉ. मनोज कुमार मिंंज और सहायक अधीक्षण डॉ.उरांव ने अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में कलेक्टर को अवगत कराया।

कलेक्टर सिंह ने अस्पताल अधीक्षक को कहा कि शासकीय अस्पताल में आने वाले मरीज गरीब और कमजोर वर्ग के अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों से आते है इनको इलाज की बेहतर सुविधा मिलनी चाहिये तथा दवाईयां भी अस्पताल से प्रदाय की जानी चाहिये। उन्होंने कहा कि राज्य शासन स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिये हर संभव पर्याप्त राशि तथा संसाधन उपलब्ध करा रही है अत: इन सुविधाओं का लाभ आम नागरिकों को मिलनी चाहिये।