राज्य सरकार ने स्पष्ट आदेश दिया है कि ना तो कॉलेज में छात्रों को मार्कशीट लेने और ना ही परीक्षा की उत्तर पुस्तिका लेने के बुलाया जाए….


रायपुर 17 नवंबर 2020। कोरोना के बीच परीक्षा की इजाजत तो दे दी गयी है। लेकिन संक्रमण का डर बना हुआ है। राज्य सरकार ने आज सभी रजिस्ट्रार को नया निर्देश जारी किया है। राज्य सरकार ने स्पष्ट आदेश दिया है कि ना तो कॉलेज में छात्रों को मार्कशीट लेने और ना ही परीक्षा की उत्तर पुस्तिका लेने के लिए बुलाया जायेगा।

दरअसल आज ही राजधानी में देखने को मिला। जिसमें कॉलेजों में अंतिम वर्ष के छात्रों को उत्तर पुस्तिका लेने के लिए छात्रों को बुलाया गया था। जिसमे कालेजों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गयी थी। सैंकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं की उत्तर पुस्तिका लेने के लिए भीड़ उमड़ी थी। भीड़ की वजह से कोरोना का खतरा भी बढ़ गया था। अब राज्य सरकार ने स्पष्ट किया है कि प्रथम और द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं को ना तो मार्कशीट और ना ही अंतिम वर्ष के परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तिका लेने के लिए कालेजों में बुलाया जायेगा।

उच्च शिक्षा विभाग की आयुक्त शारदा वर्मा ने अपने आदेश में इस निर्देश का कड़ाई से पालन कराने का सभी रजिस्ट्रार को निर्देश दिया है। अपने आदेश में आयुक्त ने कहा है कि

“कई शासकीय निर्देशों की उपेक्षा करते हुए उत्तर पुस्तिकाओं के वितरण एवं संकलन के लिए विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र तक बुलाने की कार्यवाही की जा रही है। इस संबंध में स्मरण कराया जाता है कि परीक्षार्थियों को भौतिक रूप से महाविद्यालय में बुलाने संबंधी कार्यवाही कोविड 19 के संक्रमण की रोकथाम हेतु छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी मार्गदर्शी निर्देश के उल्लंघन की श्रेणी में आता है, कोविड़ 19 के संक्रमण की रोकथाम हेतु जारी मार्गदर्शी निर्देशों का पालन सभी शासकीय संस्थाओं द्वारा किया जाना अनिवार्य है। अत:विभाग के उपरोक्त संदर्भित आदेशों का कड़ाई से पालन किया जावे”